Volume 6 Issue 15 Archives | Tehelka Hindi — Tehelka Hindi

Post Tagged with: "Volume 6 Issue 15"

‘महाभारत से बेहतर संभवत: दुनिया में कुछ नहीं लिखा गया’

युवा कविता के क्षेत्र में देश का सबसे प्रतिष्ठित भारत भूषण अग्रवाल पुरस्कार इस वर्ष भोपाल के युवा कवि आस्तीक वाजपेयी को देने की घोषणा की गई है. उन्हें यह पुरस्कार उनकी कविता ‘विध्वंस की शताब्दी’ के लिए दिया जा रहा है. पूजा सिंह की उनसे बातचीत  

‘50 रुपये में जीवन-भर का सबक मिला’

हर्ष मिश्रा लेखक हिमाचल विश्वविद्यालय (शिमला) में असिस्टेंट प्रोफेसर हैं  

नागपुर की नकेल!

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा अपने पदाधिकारियों की भाजपा में तैनाती इस बात का संकेत है कि वह अब पर्दे के पीछेवाली भूमिका में नहीं रहनेवाला  

सड़कछाप काम !

कैग की हालिया रिपोर्ट से छत्तीसगढ़ के कई विभागों में भ्रष्टाचार के मामले उजागर हुए हंै लेकिन इनमें भी लोकनिर्माण विभाग सबसे अव्वल है  

भूपेंद्र सिंह हुड्डा: हाईकमान मेहरबान तो…

पार्टी की लगातार होती दुर्गति के बावजूद आलाकमान के आशीर्वाद के चलते मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा हरियाणा की राजनीति में सबसे ताकतवर बने हुए हैं  

भारत का इजरायल प्रेम!

इजरायल के साथ रक्षा संबंधों में बढ़ रही प्रगाढ़ता भारत की पश्चिम एशिया नीति में एक बड़े बदलाव का आधार बन रही है  

दो का मेल, दो की लड़ाई और तीसरा कोण

बिहार में जो नए राजनीतिक हालात बने हैं उनमें आगे के सारे समीकरण नीतीश कुमार-लालू प्रसाद यादव के मेल और उनके सामने खड़ी भाजपा के संदर्भ में ही देखे जा रहे हैं. लेकिन भविष्य के इन राजनीतिक समीकरणों में एक तीसरा कोण भी है-वर्तमान मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी का  

गूगल: सबका मालिक एक

दिल्ली के मयूर विहार में रहने वाले राजेश कुमार के दिन की शुरुआत अपने स्मार्टफोन पर ताजा खबरें और ईमेल चेक करने के साथ होती है. करीब आधा घंटे यह काम करने और फिर सुबह की दूसरी कवायदों से फारिग होने के बाद वे दफ्तर रवाना होते हैं. इसके बाद  

कॉलेजियम असल में काम कैसे करता है

जस्टिस मार्कण्डेय काटजू ने बीती 28, जुलाई को अपने ब्लॉग ‘सत्यम ब्रूयात’ में यह लेख अंग्रेजी में लिखा था. कुछ ही समय बाद उन्होंने इसे अपने ब्लॉग से हटा दिया. इसीलिए इसके बारे में ज्यादा लोगों को पता नहीं. जजों की नियुक्ति पर लिखी उनकी यह टिप्पणी भी उतनी ही विस्फोटक है जितनी कि 20 जुलाई को लिखी उनकी वह टिप्पणी जिसने पूरे देश में भूचाल ला दिया था. अपनी पहली टिप्पणी में जस्टिस काटजू ने केंद्र सरकार के...