नेपाल में संविधान पर विवाद

साभार : Conciliation Resources

 

साभार : Conciliation Resources
साभार : Conciliation Resources

क्या है मामला?

लगभग सात वर्षों के संघर्ष के बाद नेपाल में बीते 20 सितंबर को संविधान लागू हुआ. संविधान लागू होने के बाद नेपाल हिंदू राष्ट्र से एक लोकतांत्रिक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र की श्रेणी में आ गया है. संविधान में नेपाल को सात प्रांतों में बांटा गया है पर इनके नाम और सीमाओं का अभी निर्धारण नहीं हुआ है. राजशाही से चल रहे नेपाल के नए संविधान का मूल सिद्धांत संघवाद होगा यानी सत्ता को विकेंद्रित किया जाएगा. केंद्र में संघीय सरकार होगी जबकि राज्यों में राज्य की, साथ ही जिले और ग्राम स्तर पर भी शासन व्यवस्था बनाई जाएगी. 601 सदस्यों वाली संविधान सभा में 507 लोगों ने संविधान के पक्ष में वोट दिया जबकि मधेसी और अन्य जनजातियों के 69 प्रतिनिधियों में इसका बहिष्कार किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here