झारखंड Archives | Page 3 of 3 | Tehelka Hindi — Tehelka Hindi
अपनी कहानी अपनी जबानी

अपनी बात अपनी भाषा में नहीं कह पाने की बेचैनी आदिवासी और देशज समाज द्वारा तरह-तरह की समाचार पत्र-पत्रिकाओं के प्रकाशन और विविध विषयों पर पुस्तकों के रूप में सामने आ रही है. अनुपमा की रिपोर्ट.  

मर्ज कुछ इलाज कुछ

झारखंड में माओवादियों से निपटने में लगी पुलिस अपनी बुनियादी समस्याओं का हल खोजने के बजाय फौरी समाधान की राह चलती दिखती है. अनुपमा की रिपोर्ट.  

गांधी के आदि अनुयायी

झारखंड के टाना भगत समुदाय के लिए महात्मा गांधी आदर्शवाद के एक प्रतीक भर नहीं हैं. ये लोग आज भी अपनी सामुदायिकता को गांधी जी के बताए तौर-तरीकों से गढ़कर आगे बढ़ रहे हैं. निराला की रिपोर्ट