झीरम घाटी में फिर नक्सल हमला

2
168
moist1-620x400
फाईल फोटो: शैलेंद्र पांडेय

छत्तीसगढ़ के जगदलपुर जिले में स्थित झीरम घाटी में एक बार फिर नक्सलवादियों ने बड़ी वारदात को अंजाम दिया है. नक्सली हमले में केंद्रीय रिजर्व सुरक्षा बल के 11 जवान और स्थानीय पुलिस के चार कर्मी शहीद हो गए हैं. ये जवान तोंगपाल से वापस लौटते वक्त नक्सलियों के एंबुश में फंस गए. लोकसभा चुनाव के ठीक पहले नक्सलियों द्वारा की गई इस बड़ी वारदात को दहशत फैलाने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है. साथ ही इसने मई, 2013 में झीरम घाटी में कांग्रेस नेताओं के काफिले पर हुए हमले की यादें भी ताजा कर दी हैं. इसमें तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष नंदकुमार पटेल और महेंद्र कर्मा सहित कांग्रेस के 30 नेता मारे गए थे.

केंद्रीय रिजर्व सुरक्षा बल की 80-बटालियन के 50 जवान तोंगपाल में बन रही सड़क को सुरक्षा देने के लिए सर्चिंग पर निकले थे. सर्चिंग कर जब ये जवान लौट रहे थे तब नक्सलियों ने घात लगाकर इन पर हमला कर दिया. हमले में कई  जवान घायल भी हुए हैं. घटना के बाद छत्तीसगढ़ पुलिस महानिदेश एएन उपाध्याय और एडीजी नक्सल ऑपरेशन आरके विज भी घटनास्थल रवाना हो गए हैं. मौके से 16 लोगों के शव मिले हैं इनमे एक ग्रामीण भी है लेकिन आशंका जताई जा रही है कि मृत जवानों की संख्या बढ़ सकती है. पुलिस सूत्रों के मुताबिक नक्सलियों की संख्या 300 के करीब थी. प्रथम दृष्टया ऐसा लगता है जैसे माओवादियों ने यह हमला सुनियोजित तरीके से किया है. नक्सलियों ने पहले बारूदी सुरंग में विस्फोट कर जवानों का रास्ता बाधित किया. इसके बाद जवानों पर अंधाधुंध गोलियां बरसाकर कर उन्हें संभलने का मौका नहीं दिया.

2 COMMENTS

  1. NAASUR BAN CHUKA NAKSALVAD KA GHAV SIRF NINDA KARNE AUR VADE KARNE SE NAHIN BHAREGA. RAJNITIK NAFE-NUKSAN KE CHASHMEN SE DEKHNE SE YAH RASHTRIY SAMASYA DIN PAR DIN GAMBHIR HOTI JA RAHI HAI. SAVAL YAH HAI KI ISKA KHAMIYAJA JANTA KAB TAK BHUGTEGII…..!!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here