पुरस्कृत Archives | Tehelka Hindi — Tehelka Hindi
सुर्खियों के बाद

दिल्ली | अप्रैल 2013 ‘शीला दीक्षित बोलीं कि मेरे पास रोज 500 बलात्कार के मामले आते हैं. मैं किस-किस को देखूंगी’ गुड़िया के लिए यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी सहित तमाम नेता बड़े-बड़े वादे कर गए थे, लेकिन हुआ कुछ नहीं. पांच साल की गुड़िया अब अपने हाल पर है दिल्ली  

अगवा बचपन, बंधुआ बचपन

राजधानी दिल्ली में जहांगीरपुरी की एक झुग्गी बस्ती में रहने वाला 14 साल का महेंद्र सिंह सात अगस्त, 2008 की सुबह रोज की तरह घर से शौच के लिए निकला था. इसके बाद उसका कुछ पता नहीं चला. घरवालों ने उसे तलाशने की न जाने कितनी और कैसी-कैसी कोशिशें कीं,  

उपचार की आड़…जिंदगी से खिलवाड़

परेशान, कुछ-कुछ डरे-से मरीज, बेखौफ अपराधी-से कई डॉक्टर और चिरंतन काल से गहरी नींद में सरकार… बात किसी असफल अफ्रीकी देश की नहीं बल्कि अपने देश के मध्य प्रदेश के अस्पतालों की हो रही है. यहां के कुछ डॉक्टर अपने दिन की शुरुआत ही महान यूनानी चिकित्सक हिप्पोक्रेट्स की उस  

दस बलात्कार, दो हत्याएं, चार साल जांच… नतीजा शून्य

दृश्य एक- मध्य प्रदेश के बैतूल जिले में मुलताई तहसील का चौथिया गांव. अभी दिन की शुरुआत ही हुई है और इस कस्बे में सूरज की नर्म रोशनी धीरे-धीरे खेतों में फैल रही है. तभी अचानक लगभग 2,000 लोगों की एक हिंसक भीड़ ट्रैक्टरों और जेसीबी मशीन के साथ खेतों  

मासूम गिरोहों की दिल्ली

गर्मियों की एक दोपहर. नई दिल्ली रेलवे स्टेशन. नई-दिल्ली-गुवाहाटी राजधानी एक्सप्रेस अपनी यात्रा पूरी कर चुकी है. यात्रियों को प्लेटफॉर्म पर उतारने के बाद खाली हो चुकी ट्रेन धुलाई-सफाई के लिए रेलवे स्टेशन के पीछे बने यार्ड की तरफ बढ़ रही है. अचानक एक कोच के दरवाजे पर 14-15 साल  

महान लोकतंत्र की सौतेली संतानें

सोनभद्र को देखकर पहली नजर में ही लगता  है मानो यहां कोई लूट मची हो. वाराणसी-शक्तिनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर ट्रकों का तांता कभी नहीं टूटता. मन में सवाल उठता है कि आखिर सोनभद्र में यह आपाधापी मची क्यों है? जवाब सीधा है. सोनभद्र का वरदान ही उसका अभिशाप बन गया  

क्यों छोड़े कोई आतंकवाद?

पाकिस्तान में आतंकवाद का प्रशिक्षण लेने गए घाटी के नौजवानों के साथ यह एक बड़ा धोखा था. यह बात समझने के बाद जब वे पुनर्वास के वादे पर कश्मीर आए तो यहां उससे बड़े धोखे का शिकार हो गए.  

होना ही जिनका अपराध है

पहले बलात्कार और फिर उन्हें जिंदा जला देना. बुंदेलखंड में पिछले एक साल में ही 15 से ज्यादा लड़कियों के साथ ऐसा हो चुका है  

लखीमपुर: महिला तस्करी की नई राजधानी

प्रियंका दुबे की विशेष रिपोर्ट. सभी तस्वीरें: विकास कुमार  

ह्त्याग्रही गांधी!

कैसे वरुण गांधी ने खुद को बचाने के लिए हमारे देश के हर बुनियादी मूल्य की हत्या की. राहुल कोटियाल और अतुल चौरसिया की खास पड़ताल.