ज्ञान है तो जहान है Archives | Tehelka Hindi — Tehelka Hindi
‘बहुत बड़ा सिर दर्द है, यह सिरदर्द भी’

‘सिर दर्द स्वयं में एक बीमारी नहीं हो, ऐसा भी संभव है. सिर दर्द किसी और बीमारी का लक्षण भी हो सकता है’  

खत्म ही नहीं होती गलतफहमियों की फेहरिस्त’

यहां हम स्वास्थ तथा विभिन्न बीमारियों को लेकर फैली आम गलतफहमियों की चर्चा कर रहे हैं. तो कुछ और ऐसी ही गलतफहमियों की चर्चा हो जाए. 1. एंटीबायटिक्स ‘गरम’ करती हैं : कोई इंफेक्शन हो जाए तो डॉक्टरों के हाथ में ‘एंटीबायटिक्स’ नाम का एक बड़ा कारगर हथियार है. वह  

‘पेसमेकर का लगना, और उसके बाद’’

अब तनिक पेसमेकर को और गहराई से समझ लें. वैसे, यह भी जान लें कि पेस मेकर का ज्ञान इतना ज्यादा गहरा है कि थोड़ी बहुत, आपके काम के लायक बातें ही मैं यहां बताऊंगा वे गहरे पानी पैठ ‘की जगह’ रहा किनारे बैठ जैसी ही हैं. पर वही काफी  

‘आजकल थका-थका लगता है, डॉक्टर सा’ब’

‘यदि डॉक्टर जल्दी में हो या गहराई से न पूछे तो उनसे कोई बड़ी बीमारी छूट सकती है. तो सोच समझकर अपनी तकलीफ सही से पूछें’  

‘भूख न लगे, तो कारण पचासों !’

‘डॉक्टर साहब, मुझे भूख क्यों नहीं लगती?’, इस प्रश्न के दसों उत्तर हो सकते हैं. एक साहब तो यही पूछने लगे कि खाना खाने के बाद मुझे भूख लगती ही नहीं- क्या करूं? याद रहे कि यदि पेट पहले ही खुशी, विषाद, चिंता या खाने से भरा हो, तो भूख  

भूख का सिस्टम

‘भूख खत्म करने वाली इतनी बीमारियां हैं कि कोई सहृदय, सक्षम और चुस्त डॉक्टर ही उसकी जड़ तक पहुंच सकता है’  

हड्डियां कमजोर क्यों हो जाती हैं ?

जन्म से लेकर किशोरावस्था तक हमारी हड्डियां बनती, बढ़ती और विकसित होती हैं. विभिन्न गतिविधियों से हड्डियों की मजबूती भी तय होती है.  

कौन है अच्छा डॉक्टर?

मैं प्रायः इस कॉलम में सलाह दिया करता हूं कि ‘अच्छे डॉक्टर’ की सलाह लें. कई लोगों ने पूछा भी है कि आखिर ‘अच्छा डॉक्टर’ पहचानें कैसे. क्या बड़ी-सी कार से उतरने वाला, लकदक चैंबर में बैठने वाला, फिल्मी हीरो जैसा दमकने वाला, किसी मार्केटिंग मैनेजर वाली बनावटी मुस्कान और मीठी