हमले के बाद शूटिंग में व्यस्त थे मोदी : कांग्रेस

''श्रीनगर जाने वाले जवानों को निवेदन के बावजूद प्लेन से क्यों नहीं भेजा''

0
623

पुलवामा हमले के बाद अध्यक्ष राहुल गांधी के निर्देश के चलते राजनीतिक बयानबाजी से लगातार दूर रही कांग्रेस ने गुरूवार को सैनिकों की शहादत को लेकर पीएम मोदी पर बेहद गंभीर आरोप लगाए हैं। पार्टी ने बड़ा सवाल उठाया है कि जम्मू से श्रीनगर जाने वाले जवानों को प्लेन से ले जाने के निवेदन को दरकिनार करके उन्हें बस से भेजकर क्यों उनकी ज़िंदगी खतरे में डाल दी गयी।

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने दिल्ली में एक प्रेस कांफ्रेंस में इसके अलावा मोदी की आज की सियोल यात्रा पर गंभीर ऐतराज जताते हुए कहा है कि जब देश जवानों की शहादत से गम में डूबा है तब पीएम मोदी विदेश के सैर-सपाटे पर निकले हुए हैं। कांग्रेस ने यह भी आरोप लगाया है कि पुलवामा हमले के चार घंटे बाद भी पीएम पार्टी प्रचार की एक शूटिंग में हिस्सा लेते रहे।

सुरजेवाला ने पीएम मोदी से पांच सवाल भी किए। उन्होंने कहा – ”पीएम अपनी, एनएसए और गृह मंत्री की विफलता क्यों स्वीकार नहीं करते? इतना आरडीएक्स  देश मे आया कहां से आया? जैश के हमले से ४८ घंटे पहले के वीडियो को नज़रअंदाज कैसे कर दिया? मोदी सरकार और गृह मंत्रालय ने सीआरपीएफ को हवाई मार्ग से जाने के निवेदन को खारिज क्यों किया? मोदी सरकार के ५६ महीनों में ४८८ जवान शहीद हो गए? नोटबंदी से आतंकी हमले बंद क्यों नही हुए?”

उन्होंने पुलवामा हमले के बाद की पीएम की मिनट-दर-मिनट गतिविधि वाली एक मीडिया रिपोर्ट, जिसमें पीएम की तस्वीर भी है, का हवाला देते हुए सवाल उठाया कि अपनी राजनीतिक रैलियों के कैंसल होने के डर से पीएम मोदी ने देश में इतने सैनिकों की शहादत पर भी एक दिन का राष्ट्रीय शोक तक घोषित नहीं किया।

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि ३.१० बजे दस मिनट पर ही पुलवामा हमले की खबर आ गई थी। ”पांच बजकर १५ मिनट पर कांग्रेस ने भी रिएक्शन दे दिया था लेकिन मोदीजी क्या कर रहे थे। मोदीजी की दिनचर्या बता रहा हूं। वह  दिन भर पार्क का भ्रमण करने के बाद नौका विहार और शूटिंग करवा रहे थे। छह बजकर ४५ मिनट तक फिल्म की शूटिंग करते हैं, नौका विहार करते हैं। पीएम राम नगर के गेस्ट हाउस में भी कुछ देर रुके और फिर चले गए। शाम छह बजकर ३० मिनट पर धनगढ़ी गेट पहुंचे और अधिकारियों से दस मिनट तक वार्ता की। फिर उनका काफिला  निकला। वहां स्थानीय लोगों ने नरेंद्र मोदी जिंदाबाद नारे लगाए। पीएम ने भी सभी का अभिवादन किया।”

सुरजेवाला ने कहा – ”देश हमारे शहीदों के शरीर के टुकड़े चुन रहा था, लेकिन पीएम नारे लगवा रहे थे। वह राम नगर के फीडर गेस्ट हाउस रुके और चाय-नाश्ता किया।   पूरे देश के चूल्हे बंद थे, तब गुरुवार को सात बजे वह चाय-नाश्ते का आनंद ले रहे थे।  यह है इस देश के पीएम की असली वास्तविकता। इससे ज्यादा शर्मनाक व्यवहार किसी पीएम का नहीं हो सकता।”

प्रेस कांफ्रेंस में सुरजेवाला ने कहा कि यह मैं नहीं आपके पत्रकार साथी कह रहे हैं,   जिन्होंने मोदी के दौरे का कार्यक्रम कवर किया है। कांग्रेस नेता ने दावे के समर्थन में अखबारों की कटिंग और कथित तस्वीरें दिखाईं। सुरजेवाला ने जवानों की शहादत पर राष्ट्रीय शोक की घोषणा न होने पर भी मोदी सरकार की आलोचना की। उन्होंने कहा – ”प्रधानमंत्री ने राष्ट्रीय शोक की घोषणा नहीं की ताकि सरकारी खर्च पर होने वालीं राजनीतिक सभाएं रुक न जाएं। जब शहीदों के शव एयरपोर्ट पर थे, तब झांसी के कार्यक्रम से प्रधानमंत्री मोदी एक घंटा देरी से आए। फिर पहले अपने घर गए सीधे एयरपोर्ट नहीं। पीएम मोदी के मंत्री शहीदों के शव के साथ सेल्फी ले रहे हैं। मोदीजी अब दक्षिण कोरिया पहुंच गए हैं सैर सपाटे के लिए।”