लेखक को अपने विचारों को जताने का मूलभूत अधिकार है: सुप्रीम कोर्ट | Tehelka Hindi

समाज और संस्कृति A- A+

लेखक को अपने विचारों को जताने का मूलभूत अधिकार है: सुप्रीम कोर्ट

प्रोफेसर कांचा इलैया शेफर्ड की किताब के पक्ष में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आया ज़रूर लेकिन उनकी मुश्किलें कम नहीं हुई हैं।

kancha_ilaiah

Pages: 1 2 Single Page

(Published in Tehelkahindi Magazine, Volume 9 Issue 22, Dated 30 November 2017)

Comments are closed