लखीमपुर खीरी मामले में राष्ट्रपति से मिला कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल, मंत्री को हटाने की उठाई मांग

कांग्रेस नेता ने लखीमपुर कांड का जिम्मेवार अजय मिश्रा को बताया। राहुल ने कहा – ‘केंद्रीय गृह राज्य मंत्री ने पहले ही किसानों को धमकी दी थी। इस शख्स ने हत्या से पहले देश के सामने कहा था कि यदि सुधरोगे नहीं तो मैं सुधार दूंगा। इससे साफ है कि उस व्यक्ति ने पहले किसानों को धमकी दी और फिर उसके आधार पर उन्हें मारा। इसलिए हमने राष्ट्रपति को बताया कि इन्हें हटाना होगा।’

राष्ट्रपति से मिलने वाले प्रतिनिधिमंडल में राहुल और प्रियंका गांधी के साथ मल्लिकार्जुन खड़गे, गुलाम नबी आजाद, एके एंटनी जैसे वरिष्ठ नेता भी थे। यह पहला अवसर है जब प्रियंका गांधी ऐसे किसी प्रतिनिधिमंडल के रूप में राष्ट्रपति से मिलने गईं। इससे जाहिर होता कि प्रियंका उत्तर प्रदेश  लेकर काफी गंभीर दिख रही हैं। वे लखीमपुर खीरी की घटना  भी लगातार उत्तर प्रदेश में बनी हुई हैं। उनकी सक्रियता ने यूपी की राजनीति में तूफान ला दिया है।