योगी के मंत्री बोले, भाजपा अपने मुस्लिम नेताओं के नाम भी बदले

कहा, मुद्दों से ध्यान हटाने के लिए जगहों के नाम बदलना भाजपा का 'ड्रामा'

0
1311
लोक सभा के २०१९ के चुनाव से पहले राम मंदिर और जगहों के नाम बदलने की भाजपा की राजनीतिक कोशिशों के बीच उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार के एक मंत्री ने ही सवाल उठाकर राजनीतिक गलियारों में गर्मी भर दी है। इन मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने आरोप लगाया है कि राम मंदिर और नाम बदलने की भाजपा की राजनीति एक ”ड्रामा” है और इसका मकसद असली मुद्दों से ध्यान हटाना है।
उन्होंने एक कदम आगे जाकर यहाँ तक कहा कि इन नामों से भाजपा को इतना ही परहेज है तो उसे अपने मुस्लिम मंत्रियों के नाम भी बदल देने चाहियें। राजभर के इस ब्यान के बाद माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री नाराज हैं और उन्हें सरकार से बाहर भी किया जा सकता है। वैसे मुख्यमंत्री ने इस ब्यान के बाद कहा है कि उन्हें जो उचित लगा वह वे कर रहे हैं।
गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने इलाहाबाद का नाम पहले ही बदलकर प्रयागराज और मुगलसराय का नाम पंडित दीनदयाल उपाध्याय करने की अधिसूचना जारी कर दी है जबकि फैजाबाद, आगरा, मुज़फ्फरनगर जैसे शहरों के नाम बदलने की बात हो रही है। हालांकि भाजपा सरकार की इस कोशिश की मुखालफत योगी के ही मंत्री  ओम प्रकाश राजभर ने कर दी है। राजभर ने कहा – ”भाजपा को पहले अपने मुस्लिम नेताओं के नाम बदलने चाहिए”।
राजभर ने उत्तरप्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के शहरों के नाम बदलने की कोशिशों की एक तरह से निंदा करते हुए कहा कि जब भी पिछड़े और दबे कुचले समाज के लोग अपनी मांगों को लेकर आवाज बुलंद करते हैं तो भाजपा इससे ध्यान हटाने के लिए इस तरह के मुद्दों को उछालने लगती है।
योगी सरकार के मंत्री ने कहा कि भाजपा ने मुगलसराय और फैजाबाद के नाम बदल दिये क्योंकि वे (भाजपा/योगी) कहते हैं कि इनका नाम मुगलों के नाम पर रखा गया था। ”अब मैं कहता हूँ कि भाजपा के एक राष्ट्रीय प्रवक्ता हैं शाहनवाज हुसैन, केन्द्रीय मंत्री हैं मुख्तार अब्बास नकवी और यूपी के मंत्री हैं मोहसिन रजा। ये तीनों भाजपा का मुस्लिम चेहरा हैं। भाजपा को पहले इनका नाम बदलना चाहिए”।
राजभर ने कहा – ”आज भाजपा की सरकार है, लेकिन जनता महंगाई की मार झेल रही है। सत्ता पक्ष का कोइ बड़ा नेता सड़क पर आकर आंदोलन नही कर रहा। सब चुप्पी साधे बैठे हैं”।
मुगलों के वक्त रखे नामों को लेकर राजभर ने कहा कि मुसलमानों ने भारत को बहुत कुछ दिया है  इससे इनकार नहीं किया जा सकता। ”क्या हमें जीटी रोड को नकार देना चाहिए, लाल किला किसने बनवाया? ताजमहल किसने बनवाया ?”