मनु भाकर ने आईएसएसएफ में जीता गोल्ड

0
654

भारत की निशानेबाज हरियाणा की रहनी वाली मनु भाकर ने गुरुवार को पुतियान में  आईएसएसएफ विश्व कप फाइनल में विश्व रेकार्ड तोड़ते हुए स्वर्ण पदक जीत कर इतिहास रच दिया है। मनु सिर्फ १७ साल की हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक भारत की स्टार शूटर ने आईएसएसएफ वर्ल्ड कप फाइनल में देश को पहला गोल्ड दिलाया और १० मीटर एयर पिस्टल में जूनियर वर्ल्ड कप रिकॉर्ड तोड़ते हुए गोल्ड मेडल जीत लिया। इसके बाद भारत की  इलावेनिल वालारिवान  ने १० मीटर राइफल में देश को गोल्ड दूसरा गोल्ड दिलाया। मनु आईएसएसएफ विश्व कप में महिलाओं की १० मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने वाली हिना सिद्धू के बाद दूसरी भारतीय निशानेबाज बन गईं हैं।

मनु भाकर ने जुनियर वर्ल्ड कप में १० मीटर एयर पिस्टल फाइनल्स में उन्होंने २४४.७ का स्कोर हासिल करते हुए जूनियर वर्ल्ड रिकॉर्ड तोड़ दिया। दस मीटर एयर पिस्टल में मनु भाकर के साथ हिस्सा ले रही यशस्विनी देसवाल मेडल से चूक गईं और छठे स्थान पर रहीं। भाकर के बाद सर्बिया की जोरना ओरुनोविच २४१.९ अंकों के साथ दूसरे और चीन की वैंग २२१.८ अंकों के साथ तीसरा स्थान हासिल किया।

मनु आईएसएसएफ विश्व कप में महिलाओं की १० मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने वाली हिना सिद्धू के बाद दूसरी भारतीय निशानेबाज बन गईं हैं।

इस स्पर्धा के फाइनल राउंड में भारत की यशस्विनी सिंह देसवाल छठे स्थान पर रहीं।  रजत पदक सर्बिया की जोराना अरुनोविक ने जीता, जबकि चीन की क्वियान वांग ने कांस्य पदक हासिल किया। पुरुषों की १० मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में अभिषेक वर्मा और सौरभ चौधरी ने फाइनल के लिए क्वालिफाई किया। क्वालिफिकेशन में अभिषेक वर्मा ५८८ के साथ टॉप पर रहे, जबकि सौरभ चौधरी ५८१ सातवें स्थान पर रहे।

दिलचस्प यह है कि बुधवार को मनु शूटिंग वर्ल्ड कप फाइनल्स में महिलाओं के २५  मीटर एयर पिस्टल वर्ग में फाइनल के लिए क्वालिफाई नहीं कर सकी थीं। मनु और यशस्विनी दोनों ही अगले साल टोक्यो ओलंपिक के लिए १० मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में कोटा हासिल कर चुकी हैं।