आरबीआई ने रेपो रेट में 0.50 फीसदी की बढ़ौतरी की, अब 5.90 फीसदी पर आया

दुनिया भर के बाज़ारों में उठापटक के बीच भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने शुक्रवार को मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की बैठक की जिसमें फैसला किया गया कि रेपो रेट में 0.50 फीसदी के बढ़ौतरी की जाएगी। अब रेपो रेट 5.90 फीसदी पर आ गया है जो पहले 5.40 फीसदी पर था और यह बदलाव तत्काल प्रभाव से लागू हो गया है।

बैठक के बाद आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने मौद्रिक नीति समिति के फैसलों के बारे में जानकारी दी और कहा कि रेपो रेट में 50 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी की जा रही है। अब रेपो रेट 5.40 फीसदी की जगह 5.90 फीसदी होगा। दास ने कहा कि महंगाई की दरें अभी भी ऊंची बनी हुई हैं और देश को आयातित प्रोडक्ट्स की ऊंची दरों का सामना करना पड़ रहा है। इसके पीछे करेंसी की बढ़ती कीमतें भी कारण हैं।

उन्होंने स्वीकार किया कि भारतीय अर्थव्यवस्था के सामने चुनौतियां हैं। पिछले ढाई साल में दुनिया ने दो बड़े वैश्विक बदलाव देखे हैं जिनमें कोविड संकटकाल और रूस-यूक्रेन युद्ध शामिल हैं। उन्होंने कहा कि लगातार चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों के बावजूद भारतीय अर्थव्यवस्था ने इसका उचित तरीके से सामना किया है। जियो-पॉलिटिकल परिस्थितियों में बदलाव का असर भी देखा जा रहा है।