चिंतन के सिर पर ठीकरा

चिंतन शिविर चार- ‘सही कहते है ज्ञानी लोग, जनता जनार्दन होती है!’ ‘हां कहेंगे क्यों नहीं… आपकी सांसदी जो बच गई!’ ‘और तुम्हारी जमानत तक जब्त हो गई.’ ‘खूब मजा लिजिए!’ ‘बुरा मत मानो यार!  नर हो न निराशा करो मन को…’ ‘नर हो न निराशा करो… कहना आसान है. क्या आपको मालूम नहीं, बिना कुर्सी के हम खर (गधा) हैंै निरा खर.’

एक बार फिर शिविर में आलाकमान के विश्वासपात्र की कंपकंपाती आवाज सुनाई दी, ‘हम अपनी बात पहुंचा नहीं पाए..’ यह सुनते ही सारे चिंतकों के मुंह हाथी की सूंढ़ की तरह लटक गए. तभी एक संदेशवाहक चिंतन शिविर में प्रकट हुआ. और प्रकट होते ही उसने एक अप्रत्याशित खबर चिंतकों को सुनाई, ‘साथियों! यहां चिंतन शिविर में आने से पहले आलाकमान ने खूब चिंतन किया और इस निष्कर्ष पर पहुंचे कि उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए. यह विचार आते ही फौरन उन्होंने अपने आपको इस्तीफा प्रस्तुत कर दिया.’

यह खबर सुनते ही चिंतन शिवर में रोना-पीटना शुरू हो गया. कुछ अपने बाल नोचने लगे. कुछ अपने कपड़े फाड़ने लगे. दृश्य कुछ ऐसा बन पड़ा लगा कि अभी ही सारे चिंतक मारे चिंता के मर जाएंगे. स्थिति को भांपते हुए संदेशवाहक त्वरित गति से बोला, ‘धैर्य रखें! अभी आप सबके सामने मैं अपूर्ण सूचना प्रेषित कर पाया हूं. अत: आप से अनुरोध है कि कृपया आगे की सूचना सुन लें.’ सारे चिंतकों की सांसे थम गई.

संदेशवाहक उवाचा, ‘इस्तीफा देने के बाद आलाकमान ने पुन: घोर चिंतन किया और उसके पश्चात इस निष्कर्ष पर पहुंचे कि इस्तीफा देना किसी बात का हल नहीं. अत: उन्होंने अपना इस्तीफा अपने आप से वापस ले लिया.’

यह खबर सुनते ही चिंतकों की जान में जान आई और उन्होंने पुन: पूरे जी जान से चिंतन शिविर में चिंतन करना शुरू कर दिया.

1 COMMENT

  1. phir kya hua agar ab ki bar har gye to
    har jeet to lagi rahti hain ab ki bar sonia ji
    aur rahul baba ki agubai main phir se ladenge
    mera dil kahta hain congresh ka hi pm banenga
    mera to bas ek hi sapna hain hamari sonia ji india
    ki pm bane hain bhagwan meri sun le ab bar
    congresh ko full bahumat se sarkar bana len de
    phir dekhna india kaha se kaha tk jayenga
    main vese to kisi parti ka nhi pr jb se hoos sambhala
    tb se sonia ji ko hi pasand krta hu main un ko pm
    bante huye dekhna chahta hu ab main india nhi hu
    ab maim germany hu yahi pr kam krta hu sonia ghandhi
    jindabad rahul ghandi jindabad aur ha har ki na to sonia
    ji ki jimebari banti hain na rahul ji ki ye to un sab parti
    ki bajah se hua jo parti ko sport kr rahi thi un k chakar
    main kuch kam theek nhi hoye janta sab samjh jayengi
    ab to bjp full bahumat se aayi hain dekhte hain
    ok bye

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here