राज्यवार Archives | Page 2 of 11 | Tehelka Hindi — Tehelka Hindi
क्षतिपूर्ति  से हितपूर्ति

हजारों करोड़ रु के जिस कैंपा फंड का मकसद उद्योगों के चलते जंगलों को हुए नुकसान की भरपाई करना है वह छत्तीसगढ़ में जेबें भरने का जरिया बन गया है  

भूपेंद्र सिंह हुड्डा: हाईकमान मेहरबान तो…

पार्टी की लगातार होती दुर्गति के बावजूद आलाकमान के आशीर्वाद के चलते मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा हरियाणा की राजनीति में सबसे ताकतवर बने हुए हैं  

दो का मेल, दो की लड़ाई और तीसरा कोण

बिहार में जो नए राजनीतिक हालात बने हैं उनमें आगे के सारे समीकरण नीतीश कुमार-लालू प्रसाद यादव के मेल और उनके सामने खड़ी भाजपा के संदर्भ में ही देखे जा रहे हैं. लेकिन भविष्य के इन राजनीतिक समीकरणों में एक तीसरा कोण भी है-वर्तमान मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी का  

उत्तराखंड राजनीति: कठिन डगर,  मुश्किल सफर

विधानसभा उपचुनावों में उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने भले ही विरोधी पक्ष भाजपा को पटखनी दे दी हो, लेकिन अपने ही दल में बैठे विरोधी पक्ष से वे कैसे निपटेंगे?  

एक डॉक्टर की आत्म ’हत्या’

जबलपुर के नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल कॉलेज के प्रभारी डीन डॉ डीके साकल्ये फर्जी तरीके से कॉलेज में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों की जांच कर रहे थे. ऐसे में उनकी कथित आत्महत्या पर कई सवाल उठ रहे हैं?  

बड़ा इम्तिहान

विधानसभा उपचुनाव में उत्तराखंड के मुखिया हरीश रावत के सामने अपनी सीट के अलावा बाकी दो सीटें भी पार्टी की झोली में डालने की बड़ी चुनौती है.  

अवैध भरती की धरती!

मध्य प्रदेश के व्यावसायिक परीक्षा मंडल (व्यापम) घोटाले में हो रहे नित नए खुलासों से प्रदेश की राजनीति तो क्या सारी व्यवस्था के ही बुरी तरह हिल जाने का खतरा खड़ा हो गया है  

फिर मंडल की हांडी

लालू प्रसाद यादव फिर मंडलवादी राजनीति के सहारे बड़ा और आखिरी दांव खेलना चाहते हैं. जिन नीतीश कुमार के साथ वे इस राह चलना चाहते हैं उन्होंने इस पर मौन साधा हुआ है. क्या आज के बिहार में मंडल कार्ड से राजनीतिक मुनाफे की फसल काटना मुमकिन है?  

मेल और खेल

नीतीश कुमार द्वारा लालू प्रसाद यादव से समर्थन मांगना बिहार की राजनीति में संभावनाओं के नए द्वार खुलने और विडंबनाओं के दोहराव का संकेत है  

इन नदियों का उद्गम भी ‘गोमुख’ होता…

लेकिन कई पौराणिक कथा-कहानियों से संबंधित होने और हजारों लोगों का जीवन आबाद करने वाली झारखंड की स्वर्णरेखा व कोयल नदियों की किसी को सुध नहीं.