राज्यवार Archives | Tehelka Hindi — Tehelka Hindi
गुजरात में शिवसेना का दांव! बीजेपी के खिलाफ भड़ास या चेतावनी

गुजरात विधानसभा के चुनाव दो चरणों यानी नौ और चौदह दिसंबर को हैं। भाजपा ने इस चुनाव में विजयी होने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगा दिया है। पार्टी के कई केंद्रीय मंत्री वहां अर्से से लगातार जमे हुए हैं। संघ परिवारों के कार्यकर्ता भी घर-घर प्रचार में जुटे हैं।  

‘बड़ा गोलमाल कर सकती है भाजपा’

गुजरात विधानसभा चुनाव में पटेल समुदाय बीजेपी के लिए गले की हड्डी बन गया है। बीजेपी के तमाम पैंतरों और रणनीतियों को 23 साल के हार्दिक पटेल बैकफुट पर धकेलते दिखाई दे रहे हैं। राज्य में अगले महीने 9 और 14 दिसंबर को मतदान होंगे और नतीजा 18 दिसंबर को  

संवैधानिक बाधा नहीं आरक्षण में : हार्दिक

‘मुद्दे बीजेपी ने हरामाओ चे, अनामत नो नाथी’  

एसपी डी डब्ल्यू नेगी शिमला बलात्कार-हत्या मामले में गिरफ्तार

सीबीआई टीम, जो गुड़िया हत्याकांड और आरोपी सूरज सिंह की हिरासत के दौरान मृत्यु की जांच कर रही थी, ने गुरुवार को पुलिस के पूर्व अधीक्षक डी डब्ल्यू नेगी को गिरफ्तार कर लिया है। एक वरिष्ठ सीबीआई अधिकारी ने अनुसार संदिग्ध की हिरासत में मौत के संबंध में जांच एजेंसी  

गुजरात में चुनावी माहौल गरमाया, हिंसा भी

गुजरात में 182 सीटों की विधानसभा के लिए चुनावी सरगर्मी ज़ोरों पर है। भाजपा कार्यकर्ताओं और पाटीदार (पास) के बीच राज्य में कई जगह झगड़े-फसाद और गिरफ्तारियों की सूचना मिली है। भाजपा के कई राष्ट्रीय नेता और केंद्रीय मंत्री गुजरात चुनावों के प्रचार कार्य में अपनी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी निभा रहे  

काले कानून ने कराई किरकिरी?

भ्रष्ट लोक सेवकों को बचाने और मीडिया पर पाबंदी लगाने वाला दंड (राजस्थान संशोधन) विधेयक-2017 को लेकर जबरदस्त जनविरोध के आगे वसुंधरा सरकार के पैर कांप गए हैं। जनता के जेहादी रुख से घबराई सरकार ने शुतुरमुर्गी रवैया अख्तियार करते हुए ’काला कानूनÓ से अभिशप्त हुए अध्यादेश को ’ठंडे बस्तेÓ में डालते हुए पुर्नविचार के  

बाबा केदार कु आशीर्वाद सभी पर

‘केदार घाटी 2013 की अचानक आई बाढ़ में खासी तबाह हो गई थी। दोनों का नुकसान हुआ। लोग मरे और संपत्ति भी नष्ट हुई। यह बड़ी विपदा थी। मैं यहां आया था। गुजरात में तब मैं मुख्यमंत्री थाÓ अपने भाषण में कहा प्रधानमंत्री ने। मैंने उत्तराखंड में तब मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा (अब भाजपा  

देख लो साकेत नगरी है यही स्वर्ग से मिलने गगन में जा रही

मिथक को अयोध्या में साकार किया मुख्यमंत्री ने। कहते हैं अयोध्या के साधु-संतों की नाराजगी के बाद भी उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री ने सरयू नदी के तट पर राम, जानकी, लक्ष्मण के साथ भव्य छोटी दीपावली मनाई। राम का अयोध्या में आगमन दीपावली पर ही माना जाता है और कहते हैं राम ने