शिरीष खरे, Author at Tehelka Hindi — Tehelka Hindi
शिरीष खरे
शिरीष खरे

संवाददाता, मध्य प्रदेश

Articles By शिरीष खरे
उम्मीद के नए रंग

दो आदिवासी महिलाएं जिन्होंने विलुप्ति की कगार पर पहुंची अपनी परंपरागत कला को न सिर्फ जिंदा रखा बल्कि उसे देश-दुनिया में एक पहचान भी दिलाई  

ढोला-मारू (कच्छ)

यों तो थार के चप्पे-चप्पे पर प्रेमकथाएं बिखरी पड़ी हैं लेकिन ढोला-मारू की प्रेमकथा सबसे लोकप्रिय है. यहां हर तीज-त्योहार पर गाए जाने वाले लोकगीतों से लेकर लोकचित्रों और लोकनाटकों में ढोला-मारू को आदर्श दंपति का दर्जा मिला हुआ है. कथा में पूंगल देश का राजा अपने यहां अकाल पड़ने  

धान से धनवान

2014 की शुरुआत मध्य प्रदेश के बासमती धान उगाने वाले किसानों के लिए खुशहाली का संदेश लेकर आई है.  

वनाधिकार पत्र के लिए अब जंगल-सत्याग्रह

कौन ‘राष्ट्रीय मानव’ का दर्जा प्राप्त बैगा जनजाति कब 9 अगस्त, 2012 से कहां मसना गांव, जिला – मंडला (मध्य प्रदेश) क्यों देवालय के नाम पर यहां न कोई छत है, न कोई चारदीवारी. है तो देवालय नाम का एक वटवृक्ष और उसके नीचे रखी देवमूर्ति. यह है मध्य प्रदेश  

शिवराज सिंह चौहान: बड़े मायनों वाली जीत

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की अभूतपूर्व जीत के एक दिन बाद यानी 10 दिसंबर को प्रदेश के सभी मुख्य अखबारों के पहले पन्ने पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का एक बड़ा विज्ञापन छपा. इसमें शिवराज की आंखों में जीत की चमक तो थी ही, चेहरे  

धन और बल के दलदल में!

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में इस बार धनबल और बाहुबल का अभूतपूर्व प्रदर्शन क्या यहां की राजनीतिक संस्कृति में बदलाव का संकेत है? शिरीष खरे की रिपोर्ट.  

नातेदारी और मारामारी

पिछले कुछ दिनों से मध्य प्रदेश की राजनीति में छाया सन्नाटा कुछ ऐसा था कि इसमें आने वाले तूफान की आहट साफ सुनी जा सकती थी. लेकिन ऐसा पहली बार नहीं हुआ. हर बार विधानसभा चुनाव में टिकट बंटवारे के साथ ही कुछ दिन तक यही माहौल रहता है फिर  

शिवराज सिंह चौहान

खुद को भाजपा का पर्याय बनाकर चुनाव प्रचार कर रहे शिवराज सिंह चौहान के लिए यह रणनीति दोधारी तलवार साबित हो सकती है. शिरीष खरे की रिपोर्ट.  

सियासत और नर्मदा की आफत

कुछ बुनियादी सवालों की उपेक्षा करके राजनीतिक फायदे के लिए प्रचारित की जा रही नर्मदा-क्षिप्रा जोड़ने की परियोजना काफी भयावह नतीजे दे सकती है. शिरीष खरे की रिपोर्ट.