प्रियदर्शन, Author at Tehelka Hindi — Tehelka Hindi
प्रियदर्शन
प्रियदर्शन 
Articles By प्रियदर्शन 
हुसेन चले गए सरस्वती को बचा लें

95 साल की उम्र में जिस बूढ़े को अपना घर छोड़ना पड़े, वह एक बदनसीब बूढ़ा होता है. लेकिन जिस मुल्क को उसके लेखक और कलाकार छोड़कर चले जाते हैं, वह कहीं ज्यादा बदनसीब होता है  

अमेरिका में मोदी, आसमान में मीडिया

क्या वाकई अमेरिका, भारत या नरेंद्र मोदी के आगे उस तरह नतमस्तक था जैसा भारतीय मीडिया अमेरिका में बसे भारतीयों की मार्फत दिखाता और बताता रहा?  

सैलाब के बीच सेना

हम चाहें तो इस सैलाब में सेना की भूमिका और कश्मीरियों की प्रतिक्रिया के बीच एक सबक सीख सकते हैं  

एक लव जेहाद चाहिए

दुनिया को बेहतर बनाने के लिए मोहब्बत के ऐसे चलन की जरूरत है जो पूर्वग्रह और कट्टरता से उपजने वाली बाड़ेबंदियों को अंगूठा दिखा सके  

फूलन बनाई जाती है

आज भी कई बेहमई हैं जहां फूलन जैसी लड़कियां बेलिबास की जा रही हैं  

जो राज्य को ब्रांड समझते हैं

राष्ट्रीय पहचानों को लोकप्रियतावादी राजनीति के हवाले कर हम अपना भी नुकसान करते हैं और अपने नायकों का भी  

मीडिया में लड़कियां

तरह-तरह के उत्पीड़न के खिलाफ लड़ाइयां अकेले नहीं लड़ी जा सकतीं. इन लड़ाइयों को एक सांगठनिक शक्ल देने की जरूरत है.  

स्वास्थ्य मंत्री के ‘स्वस्थ’ विचार

केवल योग, सेहत या संयम की कक्षाओं के सहारे उस जटिल यथार्थ से उपजी चुनौतियों का सामना नहीं किया जा सकता जिसमें आज के बच्चे जी रहे हैं  

शपथ और कपट

संस्कृत में शपथ लेकर या हिंदी में भाषण देकर वाहवाही लूटने वाले गहरे सांस्कृतिक अर्थों में बेहद नादान और उथले राजनीतिक अर्थों में बहुत सयाने लोग हैं  

शिक्षा, मंत्री और सरकार

स्मृति ईरानी को करना क्या है जिसके लिए उन्हें अयोग्य करार दिया जा सके?