डॉ राकेश शुक्ल, Author at Tehelka Hindi — Tehelka Hindi
डॉ राकेश शुक्ल
Rakesh Shukla
Articles By Rakesh Shukla
बदलाव का संदेश

मैत्रेयी पुष्पा की औपन्यासिक यात्रा जितनी बहुरंगी है उतनी ही मार्मिक भी. उनका नवीनतम उपन्यास ‘फरिश्ते निकले’ हाशिये की स्त्री का महाकाव्यात्मक आख्यान है. दस शीर्षकों में विस्तृत उपन्यास में दो आख्यान प्रमुख हैं. एक में कथा-नायिका बेला बहू की संघर्ष गाथा है, जिसके पिता की बचपन में मृत्यु हो