डॉ अवनीश यादव, Author at Tehelka Hindi — Tehelka Hindi
डॉ अवनीश यादव
डॉ अवनीश यादव
Articles By डॉ अवनीश यादव
मेरा सुधार मां के जीवन की सबसे बड़ी चुनौती थी…

‘एैसेई मरता-मारता फिरता रै कर पूरा दिन. तुझै सरम तो बिल्कुल रई नाय. जब देखो तब कोई न कोई तेरी शिकायत ई लिए खड़ी रैवै है. मैं तो छक गई तुझसै. इससै तो अच्छा था पैदा होते ई तेरा टैंटवा दबा देती’ मां मुझे देखते ही ऐसे ही अक्सर चिल्लाया