अवलोक लांगर, Author at Tehelka Hindi — Tehelka Hindi
अवलोक लांगर
अवलोक लांगर
Articles By अवलोक लांगर
‘इन नतीजों का अर्थ यह नहीं कि हम असफल हुए’

पिछले साल दिल्ली विधानसभा चुनाव में 70 में से 28 सीटें जीतकर आम आदमी पार्टी (आप) ने चौंकाने वाली शुरुआत की थी. फिर उसने आम चुनावों में 434 सीटों पर उम्मीदवार खड़े किए. इनमें पत्रकार, सामाजिक कार्यकर्ता व उद्यमियों से लेकर बिल्कुल आम लोग भी शामिल थे. हालांकि अपने पहले लोकसभा चुनाव में 'आप' अपेक्षानुरूप प्रदर्शन नहीं कर पाई. पार्टी को पूरे देश में सिर्फ चार सीटों पर जीत मिली. दिल्ली, जहां पार्टी को सबसे मजबूत समझा जा...  

‘ जब मैं सरकारी नौकरी करते हुए नहीं झुका तो चुनाव जीतने पर तो और भी बेहतर काम करूंगा’

हरदेव सिंह के नाम से पहले बाबा तब जुड़ा जब 1985-88 के दौरान वे अलीगढ़ में अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट रहे. छोटी से छोटी समस्या में भी दिलचस्पी लेकर वे उसे सुलझाकर ही दम लेते. भारत जैसे देश में समस्या आसानी से सुलझना चमत्कार ही माना जाता है इसलिए लोग उन्हें बाबा कहने लगे. ऐसा ही कुछ हरदेव सिंह राजनीति में करना चाहते हैं.  

‘हमें अपनी जमीन, अपना पानी और अपनी हवा वापस चाहिए’

सारा जोजफ मलयालम भाषा की चर्चित लेखिका हैं. केरल में महिला आंदोलनों और एंडोसल्फान के दुष्प्रभावों पर अभियानों में उनकी प्रमुख भूमिका रही है. इस बार उनका अभियान है संसद पहुंचना  

‘बाहरी होना हमें दूसरों पर एक स्पष्ट बढ़त देता है’

महात्मा गांधी के पौत्र होने के चलते राजमोहन गांधी के बारे में कोई यह भी कह सकता है कि वे वंशवाद की राजनीति का एक और उदाहरण हैं. लेकिन अकादमिक क्षेत्र में उनका लंबा अनुभव उन्हें इसके इतर भी एक खास पहचान देता है.  

‘ नेताओं ने प्रशासन को पंगु बना दिया है’

एचएस फुल्का 1984 के सिख विरोधी दंगों के पीड़ितों के लिए इंसाफ की लड़ाई लड़ने वाले शख्स के तौर पर जाने जाते हैं. लेकिन उनका परिचय सिर्फ इतना नहीं है. वे कई साल से पंजाब में किसानों के हक के लिए और नशे की समस्या के खिलाफ भी लड़ते रहे हैं  

‘हम जैसे लोगों को लोकसभा जाकर कानून बदलने होंगे’

कभी किसी के घर में काम करते हुए कॉमर्स में एमए करने वालीं दयामणि बरला झारखंड की चर्चित सामाजिक कार्यकर्ता हैं. आदिवासी अधिकारों के लिए काम करते हुए उन्होंने राज्य में जमीन अधिग्रहण के खिलाफ चर्चित लड़ाइयां लड़ी हैं.