असगर वजाहत, Author at Tehelka Hindi — Tehelka Hindi
असगर वजाहत
asgar wajahat
Articles By asgar wajahat
अखंड भारत के लिए आवश्यक है अखंड उदारता

अच्छे सपने देखना अच्छी बात है. मानव समाज सपनों से खाली नहीं हो सकता. सपने हमें जीने का हौसला देते हैं. लेकिन रात और दिन में देखे गए सपनों में बड़ा अंतर होता है. रात के सपने सिर्फ कल्पनालोक को आलोकित करते रहते हैं जबकि दिन में देखे गए सपने  

हिंदू तालिबान बनाने की तैयारी

हाल के दिनों में जिस तरह की घटनाएं लगातार देखने में आ रही हैं, उससे जाहिर है कि मुसलमानों को लोकतंत्र से बाहर किया जा रहा है. उनको यह बताया जा रहा है कि उन्हें सबके बराबर अधिकार नहीं है. उनके मन में भय पैदा किया जा रहा है कि  

‘लोकतांत्रिक मूल्यों पर भारत के मुसलमानों का विश्वास कमजोर है’

सभी धर्म उदार, मानवीय और सहिष्णु होते हैं. लेकिन समय-समय पर धर्म के आधार पर राजनीति करने वाले तत्व या धर्म के आधार पर सत्ता में बने रहने या सत्ता प्राप्त करने का प्रयास करनेवाले धर्म को आक्रामक बना देते हैं. धर्म की आड़ में राजनीति होती है. यदि फ्रांस