अर्चना मिश्रा, Author at Tehelka Hindi — Tehelka Hindi
अर्चना मिश्रा
अर्चना मिश्रा
Articles By अर्चना मिश्रा
‘किसी महिला के लिए अपने मन की बात रखना आसान नहीं होता’

महिला हों या पुरुष, आपके बारे में सब यह बात जरूर मानते हैं कि आप बेहद खूबसूरत हैं. क्या आपको लगता है कि खूबसूरती ही आपकी सबसे बड़ी खूबी है? खूबसूरती आपके आत्मविश्वास में होती है या कह सकते हैं आप जैसे बात करते हैं, उठते बैठते हैं, वह खूबसूरती  

35 साल बाद 50 साल का आरोपी नाबालिग करार

घड़ी में सुबह के साढ़े 10 बजे थे. उत्तर प्रदेश के कानपुर देहात इलाके के रमाबाई नगर के अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायालय के कमरा संख्या चार से एक आवाज गूंजती है, कोशा..! हालांकि इस आवाज का कोई जवाब नहीं मिल पाता. न तो कोशा के वकील, न ही अभियोजन  

काल के गाल में नौनिहाल

ओडिशा के व्यावसायिक केंद्र कटक स्थित सरदार वल्लभ भाई पटेल पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टिट्यूट ऑफ पेडियाट्रिक्स, जो कि शिशु भवन के नाम से मशहूर है, में पहुंचते ही आपको एक गंध घेर लेती है. ये वही गंध है जिससे देशभर के किसी भी सरकारी अस्पताल में आपका सामना होता है. दीवारों  

‘शायद आने वाले पांच सालों में डेंगू का टीका तैयार हो जाए’

पिछले कुछ सालों में डेंगू के मामले तो बढ़े पर इससे होने वाली मृत्यु दर में गिरावट देखी गई. ऐसा कैसे संभव हो पाया? जी बिल्कुल, ऐसा ही हुआ है. उन देशों में जहां इस रोग की घातक अवस्था के दौरान प्रभावी स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध हैं, वहां डेंगू से होने  

डेंगू बना महामारी, हमारी कितनी तैयारी?

भारत में स्वास्थ्य सेवाओं की दयनीय स्थिति का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि देश में हर साल एडीज मच्छरों से फैलने वाला डेंगू सैकड़ों जिंदगियां तबाह कर देता है. राजधानी दिल्ली के साथ भी हर साल ऐसा ही होता है. बीते सितंबर महीने में एक मासूम  

‘अगर हिंसा करनी पड़ी तो वो भी करूंगा’

पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (पीएएएस) की शुरुआत के बारे में बताइए? संगठन की शुरुआत 2011 में लौहपुरुष सरदार पटेल की जयंती पर हुई थी. मैं इस संगठन को अहमदाबाद के विरामगाम और मंडल इलाके से सिर्फ पाटीदार समुदाय के लिए चला रहा था. समाज के संवेदनशील तबके, जिसमें  हिंसा की  

ये पहले से तय था कि वे पुलिस से भिड़ेंगे : अश्विन पटेल

पाटीदार आरक्षण संघर्ष समिति (पीएएसएस) के राष्ट्रीय संयोजक अश्विन पटेल हैं. कथित तौर पर कहा जाता है कि हार्दिक पटेल ने इसी संगठन से अपनी पहचान बनाई है. हालांकि इस बात से हार्दिक साफ-साफ इंकार कर चुके हैं. उनका कहना है कि उनके आंदोलन को पीएएसएस से जोड़कर न देखा  

‘जन’ से दूर ‘औषधि’

राजधानी दिल्ली के शाहदरा स्थित गुरु तेग बहादुर अस्पताल में लगी भारी भीड़ के बीच फेफड़ों की बीमारी से जूझ रहे 68 वर्षीय सुरेश चंद्र एक हाथ में अपनी मेडिकल फाइल और दूसरे में डॉक्टर का पर्चा लिए यहां संचालित ‘जन औषधि केंद्र’ की तरफ बढ़ रहे हैं. केंद्र सरकार  

‘मोदी बिहार का जितना दौरा करेंगे, उतना फायदा हमें मिलेगा’

जनता दल (यूनाइटेड) नेता और राज्यसभा सांसद शरद यादव संसद में किसी विषय पर चल रही बहस को रहस्यमयी तरीके से भटकाने के लिए जाने जाते हैं. हाल ही में जब संसद में बीमा विधेयक पर बहस चल रही थी, तब अचानक शरद यादव ने लीक से हटकर गोरी त्वचा  

‘स्वच्छ भारत’ का सच

पिछले वर्ष प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2 अक्टूबर को ‘स्वच्छ भारत अभियान’ की शुरुआत की, जिसकी घोषणा उन्होंने 68वें स्वतंत्रता दिवस समारोह में लाल किले के अपने उद्बोधन में की थी. मोदी ने कहा था, ‘गरीबों को सम्मान मिलना चाहिए और मैं चाहता हूं कि इसकी शुरुआत सफाई से हो.