अनुपमा, Author at Tehelka Hindi — Tehelka Hindi
अनुपमा
अनुपमा 

संवाददाता, झारखंड

Articles By अनुपमा 
इन नदियों का उद्गम भी ‘गोमुख’ होता…

लेकिन कई पौराणिक कथा-कहानियों से संबंधित होने और हजारों लोगों का जीवन आबाद करने वाली झारखंड की स्वर्णरेखा व कोयल नदियों की किसी को सुध नहीं.  

जमीनी अर्थशास्त्री

नई दिल्ली के झुग्गी झोपड़ी वाले इलाके में रहने वाले ज्यां द्रेज के लिए अर्थशास्त्र सिर्फ अकादमिक विषय नहीं है. उन्होंने इसके कल्याणकारी पक्ष को न सिर्फ जमीन पर उतारा बल्कि इसके लिए वे लोगों को लामबंद करने में भी जुटे हैं  

छैला संदू (झारखंड)

झारखंड की राजधानी रांची के आसपास कई झरने हैं. लेकिन इन सबसे अलग है दशमफॉल. कई लोग कहते हैं कि यहां झरने से गिरने वाले पानी के प्रवाह से संगीत की ध्वनि निकलती है. कुछ को बांसुरी की आवाज सुनाई पड़ती है तो कइयों को बंसी के साथ नगाड़े-ढोल की  

बदले-बदले से‘सरकार…’

झारखंड के 38 वर्षीय मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन अपनी कार्यशैली में नई पीढ़ी के राजनेताओं से काफी अलग नजर आ रहे हैं. लेकिन क्या वे राज्य, पार्टी और पिता शिबू सोरेन के विवादित अतीत से आगे बढ़कर अलग पहचान बना पाएंगे?  

‘हिंदी में या तो अश्लीलता बिक रही है या सनसनी’

हिंदी आलोचना की कठिन डगर पर महिलाओं के पदचिह्न कम ही मिलते हैं. निर्मला जैन को उनकी बेबाक आलोचनाओं के लिए जाना जाता है. पेश है निर्मला जैन से बातचीत के संपादित अंश.  

‘झारखंड को सिर्फ दुहते रहने से स्थिति ऐसी भयावह और अराजक होगी कि संभालना मुश्किल हो जाएगा’

हाल ही में झारखंड की कमान संभालने वाले हेमंत सोरेन बीते 13 साल में राज्य के 9वें मुख्यमंत्री हैं. अनुपमा से बातचीत में वे कह रहे हैं कि अतीत में जो गलतियां हुई हैं उन्हें ठीक किया जाएगा.  

‘सरकार’ के सहारे बेड़ा पार!

झारखंड में सरकार बदलने का दौर जारी है. छह माह के राष्ट्रपति शासन के बाद अब कमान झामुमो के हेमंत सोरेन के हाथ में है, लेकिन क्या हेमंत सरकार बचाने के साथ अपने दल की नैया पार लगा पाएंगे? अनुपमा की रिपोर्ट.  

मुर्गा लड़ाई से अवैध कमाई

कभी आदिवासियों के मनोरंजन का साधन रही मुर्गा लड़ाई अब एक बर्बर खेल और अवैध कारोबार के माध्यम में बदल गई है.  

झारखंड: बनती-बिगड़ती सरकारें

झारखंड में फिर सरकार का गठन हो गया है. इस बार झारखंड मुक्ति मोर्चा और कांग्रेस ने हाथ मिलाया है. झामुमो दिग्गज शिबू सोरेन के बेटे हेमंत सोरेन के नेतृत्व में बनने वाली यह सरकार करीब छह माह के राष्ट्रपति शासन के बाद बनी है. झामुमो द्वारा अर्जुन मुंडा सरकार से समर्थन वापस लेने के बाद जनवरी में राज्य में राष्ट्रपति शासन लगा था. तभी से झामुमो और कांग्रेस के बीच सरकार बनाने की कोशिशें जारी थीं. राष्ट्रपति शासन...  

आदि चिकित्सा की वैद्यराज महिलाएं

झारखंड के छोटे इलाकों की महिलाओं द्वारा कई बड़े प्रयास हो रहे हैं. उन्हीं में से एक है उनका वैद्य के पारंपरिक पेशे में आना. अनुपमा की रिपोर्ट.