अनिल यादव, Author at Tehelka Hindi | Page 2 of 2 — Tehelka Hindi
अनिल यादव
Anil Yadav
Articles By Anil Yadav
नकली पेड़, असली मौत

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपनी आंखों के सामने एक आदमी की मौत के बाद अपना भाषण इस तरह जारी रखा जैसे उनके ग्लैमर के पेट्रोमैक्स पर मंडराता एक भुनगा जल गया हो.  

खोखलेपन का महिमामंडन

शहर की रात, त्रिकालदर्शी औघड़ और कुछ मित्रों की श्मशान से जुड़ी जिज्ञासाएं. तीनों का मेल अलग तरह के घटनाक्रम का संकेत देता है. क्या वाकई कुछ अलग घटता है?  

सीपीआई (एम) : आधी सदी, अधूरा सफर

पचास साल बाद जब हम सीपीआई (एम) का आकलन करने बैठते हैं, तो पाते है कि इसने कभी भी खुद को हिंदुस्तान की मौलिक सोच, जमीन, आदमी, जल, जंगल से जोड़ने का यत्न ही नहीं किया. आयातित सपनों को थोपने की जिद उसे ऊंचाई की बजाय हाशिए की तरफ ले आई है