अमित सिंह, Author at Tehelka Hindi | Page 3 of 4 — Tehelka Hindi
अमित सिंह
अमित सिंह
Articles By अमित सिंह
पंजाब में उम्मीदों भरी ‘आप’

पंजाब में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियां शुरू हो गई हैं. इसमें सत्तारूढ़ अकाली-भाजपा गठबंधन के साथ मुख्य विपक्षी कांग्रेस और लोकसभा चुनावों में अपने सफल प्रदर्शन से सबको आश्चर्यचकित कर देने वाली आम आदमी पार्टी (आप) भी शामिल हैं. हालांकि पिछले विधानसभा चुनावों से इस बार  

मणिपुरः नाै लाशें, सात महीने अाैर एक अांदाेलन

ह्वाट अ फ्रेंड वी हैव इन जीसस, आॅल आवर सिंस एंड ग्रीफ टू बीयर! यानी ईश्वर के रूप में हमारे पास एक ऐसा दोस्त है जो हमारे सारे दुखों और पापों को सहन कर लेता है… दिल्ली के जंतर मंतर पर बने एक अस्थायी टेंट के पास मणिपुर की रहने  

मीठे गन्ने की कड़वी खेती

फिल्मों की कहानियां समाज की जमीनी सच्चाई से ही निकलती हैं. इसी तरह की एक सच्ची कहानी बागपत जिले के गांव ढिकाना की है. डॉक्टर अगर आपसे कहे कि आपकी बहन को कैंसर है और जल्द से जल्द ऑपरेशन करने की जरूरत है वरना हम कुछ नहीं कर पाएंगे. इस  

मौन मोदी !

26 मई, 2014 को जब भारत के राष्ट्रपति ने नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री पद की शपथ दिलाई तब देश एक ऐसे नेता की उम्मीद कर रहा था जो उनके साथ संवाद करे क्योंकि उनके पूर्ववर्ती मनमोहन सिंह पर अपने कार्यकाल के दौरान मौन रहने का आरोप लगता रहा था. नरेंद्र  

मोदी की शह पर फिर भाजपा के शाह

सोमवार, 25 जनवरी को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पश्चिम बंगाल में एक रैली को संबोधित कर रहे थे. इस दौरान आत्मविश्वास से लबरेज शाह ने ममता सरकार की जमकर बखिया उधेड़ी. उन्होंने कहा कि ममता ने परिवर्तन नहीं सिर्फ पतन किया है. रैली की खासियत यह थी कि  

‘पर्यावरणविद यह कहते हैं कि ये न करो, वो न करो, लेकिन यह भी तो बताओ कि हम करें क्या’

उत्तराखंड में आई आपदा के दो साल बाद भी सरकार के ऊपर सही तरीके से काम न करने के आरोप लगते रहे हैं. अभी आरटीआई के जरिये खुलासा हुआ है कि केंद्र द्वारा भेजे गए 1,509 करोड़ रुपये का हिसाब-किताब नहीं मिल रहा है. क्या कहना है आपका? पिछले साल  

ग्राम स्वराज का काला सच

पत्नी के चुनाव हारने पर पति ने किया मर्डर, प्रत्याशी की गोली मार कर हत्या, भाई के हारने पर ताऊ को मार डाला, प्रत्याशी के भतीजे को मारी गोली, प्रधानी का चुनाव हारने पर समर्थक को मारी गोली. ये उत्तर प्रदेश में पंचायत और स्थानीय निकाय के चुनाव नतीजे आने  

‘हमें हथियार बनाना आता है फिर भी नौकरी नहीं मिली’

कौन: ऑर्डिनेंस फैक्ट्री के हजारों पूर्व प्रशिक्षु कब: दिसंबर, 2015 से कहां: जंतर मंतर, दिल्ली  क्यों ‘मैंने ऑर्डिनेंस फैक्ट्री में प्रशिक्षण देश सेवा के लिए लिया था. मेरा मानना है कि सेना के लिए हथियार बनाने वाली इन फैक्ट्रियों का महत्व सीमा पर लड़ने वाले सैनिकों जितना ही है.’ ये कहना है नवनिर्मित  

पंचायत पर पांचवीं पास का पेंच

सुप्रीम कोर्ट ने हरियाणा में पंचायत चुनाव के उम्मीदवारों के लिए शैक्षणिक योग्यता तय किए जाने को सही ठहराते हुए कहा कि शिक्षा ही वह जरिया है जो मनुष्य को सही-गलत और अच्छे-बुरे का फर्क समझने की ताकत प्रदान करता है. शीर्ष अदालत के इस फैसले से अब हरियाणा में  

कोका कोला की प्यास से बंजर होता बनारस

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का सपना था कि गांव का शासन गांव से चले. गांव के लोग खुद ही यह तय करें कि उनका विकास किस तरह से किया जाए. इसी राह पर चलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी की 18 ग्राम पंचायतों ने इलाके में स्थित विश्व