हरियाणा की बेटी ने रचा निशानेबाजी मे इतिहास | Tehelka Hindi

खेल A- A+

हरियाणा की बेटी ने रचा निशानेबाजी मे इतिहास

तहलका ब्यूरो 2018-03-31 , Issue 06 Volume 10

मुक्केबाजी के रिंक से निशानेबाजी की रेंज पर पहुंची 16 साल की मन्नू भाकेर ने वह कर दिखाया जिसकी कल्पना भी शायद किसी ने नहीं की होगी। इस युवा निशानेबाज ने मिश्रित टीम मुकाबले में दो स्वर्ण पदक जीत लिए। उसने यह कारनामा आईएसएसएफ विश्व कप मुकाबलों में कर दिखाया जो मैक्सिको में खेले गए।

ओमप्रकाश मित्रावल के साथ जोड़ी बना कर इस युवा निशानेबाज ने 10 मीटर एयर पिस्टल टीम खिताब जीत लिया इससे पूर्व वह 10 मीटर एयर पिस्टल के व्यक्तिगत मुकाबलों में स्वर्ण पदक जीत चुकी थी। सीनियर मुकाबलों मेें यह उसकी पहली प्रतियोगिता थी। हालांकि राष्ट्रीय रायफल एसोसिएशन आफ इंडिया (एनआरएआई) ने इसकी पुष्टि नहीं की है पर मन्नू शायद भारत के लिए निशानेबाजी में स्वर्णपदक जीतने वाली शायद सबसे कम उम्र की खिलाड़ी है।

भारत-2 के नाम से खेल रही दीपक और मेहली घोष की टीम ने 10 मीटर एयर रायफल मुकाबलों की पांच देशों की स्पर्धा में 435.1 अंक हासिल कर मिश्रित मुकाबलों में कांस्य पदक हासिल किया। इस स्पर्धा का रजत पदक रोमानिया के एलिन मोलडोवीनू और लाओरा जियोरगेटा कोमा को मिला। उन्होंने 498.4 अंक हासिल किए। इस स्पर्धा का स्वर्णपदक चीन के हुआ होंग और चेन केंडु ने 502.0 अंको का विश्व रिकार्ड बनाते हुए जीता।

Pages: 1 2 Single Page

(Published in Tehelkahindi Magazine, Volume 10 Issue 06, Dated 31 March 2018)

Comments are closed