स्मृति ईरानी को अमेठी में झटका, करीबी रवि मिश्रा कांग्रेस में शामिल

0
597
लोक सभा चुनाव के मतदान से पहले केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को बड़ा झटका लगा है। उनके चुनाव प्रभारी रहे भाजपा नेता रवि दत्त मिश्रा ने पार्टी छोड़ कांग्रेस ज्वाइन कर ली है। रवि स्मृति के लिए महत्पूर्ण नेता थे यह इस बात से जाहिर हो जाता है कि रवि की पत्नी की तरफ से उन्हें भेंट की कई कमल प्रिंट वाली साड़ी पहनकर ही स्मृति ईरानी ने २०१४ में मोदी सरकार की मंत्री के रूप में शपथ ली थी।
रविदत्त मिश्रा १९९२ में भाजपा से जुड़े थे और वह संगठन में कई अहम पदों पर रहे।  मिश्रा प्रिंयका गांधी की मौजूदगी में कांग्रेस में शामिल हुए। भाजपा में स्मृति ईरानी के २०१४ के पहले लोकसभा चुनाव की पूरी तैयारी और प्रबंधन मिश्रा ने ही संभाला था।
उत्तर प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता उमा शंकर पांडेय ने बताया कि रवि मिश्रा भाजपा में १९९२ से विभिन्न पदों पर रहे। वे २०१२ से २०१४ तक अमेठी लोकसभा सीट पर भाजपा सदस्यता प्रमुख थे और प्रदेश परिषद के सदस्य भी रहे। स्मृति ईरानी के वे बेहद करीबी रहे। अमेठी और लखनऊ प्रवास के दौरान समृति ईरानी मिश्रा के घर पर ही प्रवास करती रही हैं। पिछले चुनाव में ईरानी राहुल गांधी के मुकाबले एक लाख से ज्यादा वोटों से परास्त हो गयी थीं। अब एक निकट सहयोगी के कांग्रेस में चले जाने से उन्हें जबरदस्त झटका लगा है।