सुप्रीम कोर्ट का सिखों के कृपाण के साथ विमान यात्रा के खिलाफ अर्जी पर सुनवाई से इनकार

सर्वोच्च न्यायालय ने शुक्रवार को उस याचिका पर सुनवाई से इनकार कर दिया जिसे घरेलू उड़ानों में सिख यात्रियों को कृपाण की इजाज़त के खिलाफ दायर किया गया था। यह अर्जी सर्वोच्च अदालत में हिंदू सेना ने डाली थी।

सर्वोच्च अदालत ने कहा कि याचिकाकर्ता चाहे तो इस मामले को लेकर उच्च न्यायालय में जा सकते हैं। अपनी अर्जी में हिंदू सेना ने कहा था कि इस तरह की इजाज़त विमान में यात्रा करने दूसरे यात्रियों के लिए खतरा बन सकती है। हिंदू सेना ने सिख यात्रियों को घरेलू उड़ानों में कृपाण ले जाने की अनुमति देने के ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन सिक्योरिटी (बीसीएएस) के फैसले को चुनौती दी थी।

बीसीएएस ने 4 मार्च के अपने आदेश में कहा था कि ‘कृपाण केवल एक सिख यात्री अपने साथ ले जा सकता है, बशर्ते ब्लेड की लंबाई छह इंच से अधिक न हो और कुल लंबाई नौ इंच से अधिक न हो।’