सीएए के खिलाफ केरल के बाद पंजाब विधानसभा में प्रस्ताव पेश

0
849
पंजाब में कांग्रेस की सरकार ने संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ राज्य विधानसभा में शुक्रवार को एक प्रस्ताव पारित कर दिया। मंत्री ब्रह्म मोहिंद्रा ने दो दिवसीय विधानसभा सत्र के दूसरे दिन इस कानून के खिलाफ प्रस्ताव पेश किया। मोहिंद्रा ने इस प्रस्ताव को पढ़ा, ‘संसद की ओर से पारित सीएए से देशभर में विरोध प्रदर्शन हुए और इससे लोगों में काफी गुस्सा है और सामाजिक अशांति पैदा हुई है। इस कानून के खिलाफ पंजाब में भी विरोध प्रदर्शन हुआ जो कि शांतिपूर्ण था और इसमें समाज के सभी तबके के लोगों ने हिस्सा लिया था।’
इससे पहले केरल सरकार भी विधानसभा में इस कानून के खिलाफ प्रस्ताव ला चुकी है। इतना ही नहीं, केरल सरकार ने इस कथित विवादित कानून को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती भी दी है।
पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने सीएए के खिलाफ प्रस्ताव लाने की संभावना पर वीरवार को कहा था, ‘कल तक इंतजार कीजिए।’
मैं शाहीन बाग हूँ का विस्तार
वहीं, दिल्ली का ‘मैं शाहीन बाग हूँ’ प्रदर्शन अब राजधानी से निकलकर देश के कई राज्यों के बहुत से शहरों के कई क्षेत्रों तक पहुंच गया है। लोग शांतिपूर्वक देश के ‘संविधानरोधी कानून’ का विरोध कर रहे हैं। जिसमे युवा महिलाएं बढ़ चढ़ कर हिस्सा ले रही हैं।