सबरीमाला मंदिर में दो महिलाओं का प्रवेश

अब मंदिर की 'शुद्धता' की जाएगी

0
777
केरल की ४० वर्ष की आयु की दो महिलाओं ने सबरीमाला स्थित भगवान अयप्पा के दर्शन करने का दावा किया है। उनके अनुसार उन्होंने बुधवार तड़के करीव पौने चार बजे मंदिर के भीतर प्रवेश किया। दो महिलाओं के मंदिर में प्रवेश की पुष्टि केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन ने भी की है।
रिपोर्ट्स के मुताबिक इन महिलाओं बिंदु और कनकदुर्गा के दावे के बाद फिलहाल मंदिर के कपाट बंद कर दिए गए हैं और कहा गया है कि मंदिर की ”शुद्धता” की जाएगी। माकराजोदुविलैके (स्थानीय पूजा) १४ जनवरी को किया जाएगा और उसके बाद २० जनवरी को सुबह सात बजे मंदिर को बंद कर दिया जाएगा।
मंगलवार को केरल में करीब ४५ लाख महिलाओं ने मानव चैन बनाकर महिलाओं के इस मंदिर में प्रवेश और समानता के अधिकार की मांग की थी।
जानकारी के मुताबिक जिन दो महिलाओं ने बुधवार तड़के मंदिर में प्रवेश किया उनके साथ पुलिस भी थी। गौरतलब है कि दो महीने पहले ही सर्वोच्च नयायलय ने अपने फैसले में कहा था कि १० से ५० साल की महिलाओं को मंदिर में प्रवेश करने से नहीं रोका जा सकता। इस फैसले के वाबजूद  ”प्रतिबंधित” उम्र की महिलाएं अयप्पा के दर्शन नहीं कर पाई थीं।
दो महिलाओं के मंदिर में प्रवेश की पुष्टि केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन ने की है। सीएम ने कहा – ”दो महिलाओं ने सबरीमाला मंदिर में एंट्री की। सरकार ने आदेश जारी किया है कि जो भी महिला मंदिर में प्रवेश करना चाहती है, पुलिस उसे पूरा सुरक्षा देगी।”
सुरक्षा कारणों से यह जानकारी नहीं दी गई है कि दोनों महिलाएं दर्शन करने के बाद कहां गईं। बताया जा रहा है कि दोनों महिलाओं की उम्र ४० साल से कम है।