सज्जन कुमार का अदालत के समक्ष समर्पण

सिख दंगों में मिली है उन्हें उम्र कैद

0
1000
सिख विरोधी दंगों से जुड़े एक मामले में उम्र कैद की सजा पाने वाले कांग्रेस के पूर्व नेता सज्जन कुमार ने सोमवार को अदालत में समर्पण कर दिया। कोर्ट की तरफ से उन्हें ३१ दिसंबर तक समर्पण को कहा गया था।
सज्जन कुमार गेट एक से करीब २.२५ बजे कड़कड़डूमा अदालत पहुंचे और अदालती कार्यवाही शुरू हुई। इससे पहले दो और दोषियों ने भी सुबह अदालत के सामने समर्पण कर दिया था। सज्जन कुमार का दिल्ली हाईकोर्ट ने समर्पण के लिए समय सीमा बढ़ाने का अनुरोध खारिज कर दिया था।
उच्च न्यायालय ने १९८४ के सिख विरोधी दंगों से संबंधित एक मामले में १७  दिसंबर को पूर्व सांसद सज्जन कुमार (७३) को शेष सामान्य जीवन के लिये उम्र कैद और पांच अन्य दोषियों को अलग-अलग अवधि की सजा सुनायी थी। साथ ही उन्हें ३१ दिसंबर तक समर्पण का आदेश दिया था।
सज्जन कुमार ने अदालत से उम्र कैद की सजा मिलने के अगले ही दिन कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया था। अदालत ने अपने फैसले में कहा था कि १९८४ के दंगों में दिल्ली में २७०० से ज्यादा सिख मारे गये थे। अदालत ने इसे ”अकल्पनीय नरसंहार” बताया था।