श्रीलंका के राष्ट्रपति ने की नेहरू की तारीफ़, बोले उनके रास्ते पर भारत

भारत के अपने स्वतंत्रता दिवस पर सोमवार को श्रीलंका को एक डोर्नियर समुद्री टोही विमान उपहार में देने के बीच श्रीलंका के राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे ने भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की जमकर प्रशंसा की है। उन्होंने भारत की तरफ से संकट में मदद देने के लिए भी भारत सरकार का आभार जताया है।

विक्रमसिंघे ने श्रीलंका में डोर्नियर समुद्री टोही विमान उपहार के लिए हुए एक समारोह में भारत के स्वतंत्रता दिवस की 75वीं वर्षगांठ का जिक्र करते हुए कहा – ‘मैं देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के प्रसिद्ध ‘नियति से वादा’ भाषण से प्रेरित हूँ, जो भारत की आजादी की पूर्व संध्या पर 14 अगस्त, 1947 को दिया गया था।’

श्रीलंका के राष्ट्रपति ने कहा – ‘पंडित नेहरू का तय किया गया आगे का रास्ता दिखा रहा है। भारत ने इसे समझा और आज वह विश्व शक्ति बन रहा है, और यह अब भी उत्थान पर है। मध्य शताब्दी तक जब हम वहां नहीं हैं, तो आप एक शक्तिशाली भारत देख सकते हैं जो वैश्विक मंच पर प्रमुख भूमिका निभा रहा है।’