शहीद के बेटे ने कहा, एक्शन ले सरकार

हरियाणा के पैतृक गाँव में नरेंद्र को लोगों की अश्रुपूर्ण विदाई

0
922

सीमा पर पाकिस्तान की बर्बरता के शिकार शहीद बीएसएफ के हेड कांस्टेबल नरेंद्र सिंह का आज हरियाणा के उनके पैतृक गांव में अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस मौके पर मौजूद बड़ी संख्या में लोगों ने नाम आँखों से देश के बेटे को अंतिम विदाई दी। बीएसएफ के लोगों ने उन्हेँ अंतिम सलामी दी।

इस बीच शहीद नरेंद्र सिंह के बेटे ने मोदी सरकार से इस तरह की घटना को देखते हुए एक्शन की मांग की। गौरतलब है कि सीमा पर पाकिस्तानी सेना ने भारतीय जवान के साथ बर्बरता दिखाते हुए उनकी  आंखें निकाल लीं और सिर भी काटकर ले गए। नरेंद्र सिंह के साथ पाकिस्तान की इस दरिंदगी से उनके गाँव ही नहीं पूरे देश में गुस्सा फूट पड़ा है।

 नरेंद्र की अंतिम विदाई पर लोगों की भीड़ ने उनकी शहादत को सलाम करते हुए उनके अमर रहे के नारे लगाए। लोगों के मन में पाकिस्तान की इस गुस्ताखी पर बहुत गुस्सा दिखा। गौरतलब है कि शहीद नरेंद्र का शव जम्मू के रामगढ़ सेक्टर में मिला था। यह बात सामने आई है कि पाकिस्तानी सेना ने न सिर्फ उन्हें गोलियां मारीं, बल्कि मौत के बाद उनके शव के साथ बर्बरता भी की।

अंतिम विदाई के मौके पर शहीद नरेंद्र के बेटे ने कहा कि ”हम सिर्फ गर्व करके ही नहीं रह सकते। हमें आज गर्व है, कल फिर कोई शहीद होगा और फिर गर्व होगा। हम सरकार से ऐक्शन की मांग करते हैं”। एक निजी टीवी चैनल पर भी बेटे ने कहा – ”मैं और मेरा भाई बेरोजगार हैं। मेरे पिता परिवार के अकेले कमाऊ सदस्य थे और देश की सेवा करते हुए चले गए। हम दोनों भाइयों पर जिम्मेबारी है। सरकार हमारी ज़रूरतों को देखे। मुझे या मेरे भाई को रोजगार दे”।