शहीद के घर राहुल-प्रियंका गांधी

परिजनों को ढाढ़स बंधाया, राहुल बोले हमसब आपके साथ

0
312

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा बुधवार को पुलवामा में शहीद हुए अमित कोरी के परिजनों से मिलने शामली पहुंचे। उनके आने की खबर को प्रचारित नहीं किया गया था। दोनों आदर्श मंडी थाना इलाके में रघुनाथ मंदिर पर शहीद अमित के सम्मान में जारी श्रद्धांजलि सभा में शरीक हुए।

उनके साथ उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर और महासचिव प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया भी थे। करीब १५ मिनट पीड़ित परिवार के साथ रहने के बाद वे दूसरे शहीद प्रदीप कुमार के परिवार से मिलने भी गए।  राहुल, प्रियंका और अन्य  नेताओं ने शहीद अमित के परिवार को हिम्मत बंधाई और कहा कि दुख की इस घड़ी में वे उनके साथ हैं। राहुल कुछ देर बोले भी और कहा वे शहीद परिवार के साथ हैं।

इससे पहले शहीदों के घर जाते हुए रास्ते में राहुल गांधी और उनका काफिला कैराना में रुका जहां शिव शक्ति ढाबे पर उन्होंने चाय पी। इस दौरान प्रियंका गांधी और राहुल गांधी के साथ सेल्फी लेने के लिए लोग आतुर नजर आए।

प्रियंका को वहां मौजूद एक महिला और बच्चे से लगातार बात करते हुए देखा गया। दोनों ने जनता को निराश नहीं किया और उनके साथ सेल्फी ली। उन्होंने लोगों से बात कर समस्याएं भी जानीं।

ढाबे पर राहुल और बाकी नेताओं का वीडियो राहुल गांधी के ऑफिशियल फेसबुक पेज पर शेयर किया गया है। साढ़े पांच मिनट के इस वीडियो में देखा जा सकता है कि प्रियंका गांधी ने किस तरह वहां बैठी महिलाओं के साथ संवाद किया।

 पर राहुल ने शोक सभा को सम्बोधित किया।  राहुल ने कहा – ”मेरी बहन ने कहा कि एक प्रकार से हमारे पिता (पूर्व पीएम राजीव गांधी) के साथ भी यही हुआ था। हम आपकी पीड़ा समझते हैं। हम यहां केवल आपके साथ पांच मिनट बैठने आये हैं और यह बताने आये हैं कि हम आपका दु:ख बांटना चाहते हैं।”

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा – ”मैं सीआरपीएफ के शहीदों के परिवार वालों को कहना चाहता हूं कि दुनिया की कोई भी ताकत इस देश को पीछे नहीं ढकेल सकती। यह जांबाजों का देश है और उन्होंने मिसाल कायम की है। हम अपने हृदय की गहराइयों से और देश की ओर से आपका, आपके बेटे और पूरे परिवार का धन्यवाद करते हैं।” राहुल गांधी ने कहा की यह देश हर किसी के लिए है और यह देश प्रेम और भाईचारे का देश है। ”यही भारत का संदेश है।”