वीबीए के ‘महाराष्ट्र बंद’ का मिलाजुला असर

0
987
प्रकाश आंबेडकर के नेतृत्व वाले वंचित बहुजन अघाड़ी (वीबीए) के नागरिकता संशोधन कानून (सीएए), एनआरसी और केंद्र की आर्थिक नीतियों के खिलाफ बुलाए गए महाराष्ट्र बंद का मिला जुला असर रहा है। कुछ जगह हिंसा की भी खबरें हैं।
रिपोर्ट्स के मुताबिक बंद के दौरान मुंबई में एक बेस्ट बस पर पत्थरबाजी की सूचना है जिसमें एक बस चालक घायल हुआ है। मुंबई, नासिक, औरंगाबाद और अकोला में बंद का अच्छा असर दिखा जहाँ कुछ हिस्सों में दुकानें और प्रतिष्ठान बंद रहे। ठाणे में कुछ कार्यकर्ताओं ने मुख्य सड़क को अवरुद्ध करने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस ने इसे खुलवा दिया। मुंबई में लोकल ट्रेन और बेस्ट बस पर बंद का ज्यादा असर नहीं दिखा। पुणे में सड़कों पर हलचल सामान्य रही।
वीबीए के अध्यक्ष प्रकाश आंबेडकर ने कहा कि सीएए, एनआरसी और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) का विरोध करने के लिए एक शांतिपूर्ण और अहिंसक बंद का आह्वान किया गया जिसका अच्छा असर रहा। करीब ३५ सामाजिक और व्यापारिक संगठनों ने बंद का समर्थन किया। हालांकि यातायात सुचारु चलता रहा।
बंद के मद्देनजर राज्य भर में बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। सार्वजनिक परिवहन सेवाएं और जनजीवन पर खास असर नहीं पड़ा। कुर्ला, सायन-ट्रॉम्बे रोड, बाइकला, दादर, वडाला और अंधेरी जैसे इलाकों में बंद का आंशिक प्रभाव दिखा।