विराट की कहानी, आंकड़ों की जुबानी

0
261

भारतीय क्रिकेट कप्तान विराट कोहली ने खुद को इस पीढ़ी का एक महान बल्लेबाज स्थापित कर लिया है। उसने टेस्ट मैचों, एक दिवसीय मैचों और टी-20 में जो रिकार्ड स्थापित किए है वे हैरान करने वाले हैं।

24 अक्तूबर 2018 को विराट एक दिवसीय मैचों में सबसे तेज 10,000 रन बनाने वाले बल्लेबाज बन गए। उन्होंने 10,000 रन बनाने के मात्र 205 पारियां खेलीं। इससे पूर्व सचिन तेंदुलकर ने 259 पारियां में यह लक्ष्य पूरा किया था। इन रनों को बनाने में उन्होंने 10 साल और 317 दिनों में पूरे किए थे। इनते रन बनाने में विराट ने 10,813 गेंद खेलीं।

श्रीलंका और वेस्टइंडीज़ के खिलाफ लगातार तीन शतक बनाने वाले विराट पहले बल्लेबाज बने।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे तेज़ किसी और कप्तान ने 8000 रन पूरे नहीं किए। उन्होंने यह उपलब्धि 137 पारियों में पूरी की। विराट पहले ऐसे कप्तान भी हैं जिन्होंने पांच अक्तूबर 2018 को लगातार तीन सालों तक हर साल में 1000 से अधिक रन बनाए। उन्होंने कप्तान के तौर पर सबसे तेज़ 65 पारियों में 4000 रन बना कर वेस्ट इंडीज़ के ब्रायन लारा का 71 पारियों का रिकार्ड तोड़ा।

विराट कोहली ने 20 अगस्त 2018 को 200 रन बना कर टेस्ट क्रिकेट में बतौर कप्तान 10वीं बार दोहरा शतक बना कर अपना नाम रिकार्डस की किताबों में दर्ज करवा लिया। 2018 की दक्षिण अफ्रीका यात्रा के दौरान विराट ने छह एक दिवसीय मैचों में 186 की औसत से 558 रन बनाए। उनका स्ट्राइक रेट 99 रहा। एक दिवसीय सीरिज़ में 500 से ज्य़ादा रन बनाने वाले विराट पहले बल्लेबाज़ बने। विराट ने एक दिवसीय मैचों में कप्तान के तौर पर सबसे तेज़ 3000 रन बनाने का भी रिकार्ड अपने नाम किया। उन्होंने अपने 3000 रन केवल 49 पारियों में पूरे किए जबकि इतने ही रन बनाने के लिए एबी डिविलियर्स को 60 पारियां खेलनी पड़ीं।

विराट कोहली और रोहित शर्मा के बीच अब तक चार बार 200 से ऊपर की साझेदारी हुई है। एक दिवसीय मैचों में यह भी एक रिकार्ड है। विराट ने एक दिवसीय मैचों में 9000 रन अपनी 194वीं पारी में पूरे कर लिए। उसने एबीडिविलियर्स के 205 पारियों के रिकार्ड को पीछे छोड़ा।

कोहली दुनिया के पहले बल्लेबाज़ हैं जिन्होंने चार टेस्ट मैचों मेें चार दोहरे शतक जड़े। ऐसा करते हुए उन्होंने राहुल द्रविड़ और डॉनब्रेडमैन को पीछे छोड़ दिया। इसके अलावा उन्होंने क्रिकेट के इतिहास में बतौर कप्तान खेलते हुए अपनी पहली तीन पारियों में तीन शतक जड़ दिए। यह कारनामा आज तक कोई और खिलाड़ी नहीं कर पाया। क्रिकेट के तीनों रूपों के कप्तान के रूप में खेलते हुए 93 पारियों में विराट ने 20 शतक जमा दिए। पोटिंग 20 शतकों के लिए 164 पारियां खेलीं और स्मिथ ने यह उपलब्धि 227 पारियों में अर्जित की।

विराट कोहली एक मात्र ऐेसे बल्लेबाज हैं जिसने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 50 से ज्य़ादा की औसत से 15,000 रन बनाए।