”वायु” ने रास्ता बदला, ख़तरा अभी भी

गुजरात तट से टकराने की संभावना नहीं , तमाम ऐहतियाती उपाए

0
351

चक्रवात ”वायु” ने रास्ता बदल लिया है जिससे उसके अब गुजरात तट से टकराने की संभावना नहीं है। इससे वहां होने वाले संभावित नुक्सान की आशंका भी कम हुई है हालांकि प्रसाशन की तरफ से तमाम ऐहतियाती उपाए किये गए हैं। गुजरात के गिर सोमनाथ जिले में स्थित सोमनाथ मंदिर के प्रवेश द्वार की छत तेज हवाओं के कारण क्षतिग्रस्त हो गई है।
हालांकि चक्रवात ”वायु’ के कारण तेज हवाओं, धूल भरी आंधी और बारिश का खतरा गुजरात में बना हुआ है। वायु के खतरे को देखते हुए रेलवे ने ७७ ट्रेनें रद्द कर दी है और ३३ अन्य आंशिक रूप से रोकी गयी हैं। हालांकि, चक्रवात ने अपना रास्ता बदल लिया है और अब गुजरात तट से इसके टकराने की संभावना नहीं है, लेकिन फिर भी एहतियात के तौर पर ये ट्रेनें रद्द की गई हैं।
रिपोर्ट्स के मुताबिक मौसम विभाग ने कहा कि चक्रवात ”वायु” के रास्ता बदल लेने और इसके गुजरात तट से टकराने की संभावना नहीं होने के बावजूद इस राज्य के तटीय क्षेत्रों के लिए तूफान की गंभीरता एक खतरा बनी हुई है। विभाग ने कहा कि तूफान का मध्य भाग गुजरात तट से थोड़ा दूर हो गया है, लेकिन इसका व्यास ९००  किलोमीटर से अधिक का है।
”वायु” ने अपना रास्ता बदल लिया है और अब इसके गुजरात तट से टकराने की संभावना नहीं है, लेकिन इसके प्रभाव के चलते राज्य के कई तटीय जिलों में भारी बारिश की सम्भावना मौसम विभाग ने जताई है। ”वायु” तट से टकराने की संभावना नहीं है। यह केवल तट के किनारे से गुजरेगा। इसके मार्ग में हल्का बदलाव आया है। लेकिन, इसका प्रभाव वहां होगा, तेज हवाएं चलेंगी और भारी बारिश होगी।
गुजरात सरकार ने कहा कि लोगों को रहने के लिए आश्रय गृहों में भेजा गया है। लोग सुरक्षित स्थानों पर ही रहेंगे। उनकी तैयारी उसी स्तर पर जारी रहेगी। लोगों को घर से बाहर न जाने की सलाह भी दी गयी है।
”वायु” के मद्देनजर पोरबंदर में एनडीआरएफ की छह टीमें अलर्ट पर हैं। तीस सदस्यों को चौहट्टी बीच पर स्टैंडबाय में रखा गया है। यात्रियों को होने वाली परेशानियों को देखते हुए पांच हवाई अड्डों पर विमानों का संचालन बुधवार रात से गुरुवार आधी रात तक के लिए हवाई अड्डों से विमानों का संचालन बंद कर दिया गया है।
हेल्पलाइन नंबर – एनडीआरएफ का हेल्पलाइन नंबर- 91-9711077372 है।  जामनगर कंट्रोल रूम नंबर- 0288-2553404, द्वारका कंट्रोल रूम – 02833-232125, पोरबंदर कंट्रोल रूम –  0286-2220800, दाहोद कंट्रोल रूम – 02673-239277, नवसारी कंट्रोल रूम – 02637-259401, पंचमहल कंट्रोल रूम – +912672242536, छोटा उदयपुर कंट्रोल रूम –  +912669233021, कच्छ कंट्रोल रूम – 02832-250080, राजकोट कंट्रोल रूम – 0281-2471573 और अरावली कंट्रोल रूम – +912774250221 नंबर पर संपर्क किया जा सकता है।