रोहित का दोहरा, रहाणे का शतक

तीसरे टेस्ट में भारत मजबूत, उमेश यादव ने सबसे तेज ३१ रन का रेकॉर्ड बनाया

0
899

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच  रांची में तीसरे और अंतिम टेस्ट मैच में भारत ने पहली पारी ९ विकेट पर ४९७ रन बनाकर घोषित कर दी। भारत की तरफ से ओपनर रोहित शर्मा ने शानदार दोहरा शतक बनाया जबकि अजिंक्य रहाणे ने भी शतक जड़ा। दूसरे दिन के खेल काम रोशनी के कारण जब बंद किया गया अफ्रीका ने महज ९ रन पर दो विकेट खो दिए थे।

भारत की पारी को रोमांचक बनाया रोहित, रहाणे और उमेश यादव ने। पहले रहाणे ने शतक पूरा किया। उन्होंने अपनी ११५ रन की पारी में १७ चौक्के लगाए और एक छक्का जबकि १९२ गेंदें खेलीं। रोहित ने अपनी पारी में शतक को दोहरे शतक में बदला और जब आउट हुए तो २५५ गेंदों में २१२ रन बना चुके थे। इसमें रोहित ने २८ चौक्के और ६ छक्के लगाए। उनके बाद रविंद्र जडेजा ने भी ११९ गेंदों में ४ चौक्कों की मदद से ५१ रन बनाये।

लेकिन दर्शकों में सबसे ज्यादा रोमांच जगाया तेज गेंदबाज उमेश यादव ने लेकिन बल्लेबाजी से। उन्होंने महज १० गेंदों में ५ छक्कों की मदद से शानदार ३१ रन बनाये। अपने इस धूमधड़ाके से उमेश ने कई विश्व रेकॉर्ड भी बना दिए।

उमेश यादव रवींद्र जडेजा के आउट होने के बाद क्रीज पर आए और पहली दो गेंदों पर छक्के लगाकर बल्लेबाजी की शुरुआत की। यादव ने जॉर्ज लिंडे को अपना निशाना बनाया। इसके बाद डेब्यू कर रहे जॉर्ड लिंडे के दूसरे ओवर में यादव ने तीन छक्के जड़े। यादव  का ३१ रन टेस्ट क्रिकेट में अधिकतम निजी स्कोर है। उमेश अब सबसे तेज ३० या उससे अधिक रन बनाने वाला खिलाड़ी बन गए हैं। उन्होंने स्टीफन फ्लेमिंग के रिकॉर्ड को तोड़ा। फ्लेमिंग ने १९९८ में ११ गेंदों में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ नाबाद ३१ रन बनाए थे। यादव का स्ट्राइक ३१० रहा जो १० या उससे अधिक गेंदें खेलने के बाद टेस्ट इतिहास में सबसे अधिक स्ट्राइक रेट है। यही नहीं उमेश टेस्ट इतिहास के पहले बल्लेबाज हैं, जिन्होंने एक पारी में बिना कोई चौका जड़े ५ छक्के जड़े हैं। उमेश यादव सचिन तेंदुलकर के साथ एक खास इलीट क्लब में भी शामिल हो गए हैं। टेस्ट क्रिकेट में बल्लेबाजी करते हुए पहली दो गेंदों पर लगातार दो छक्के जडऩे के मामले में उमेश ने सचिन की बराबरी कर ली है। यह रेकॉर्ड सबसे पहले फॉफी विलियम्स के नाम दर्ज था।

उधर आज के  दोहरे शतक के साथ रोहित शर्मा टेस्ट और वनडे इंटरनेशनल दोनों में  २०० से ज्यादा रन बनाने वाले चौथे बल्लेबाज बन गए हैं। उनसे पहले सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग और क्रिस गेल यह कारनामा कर चुके हैं। खेल ख़त्म होने तक अफ्रीका ने महज ९ रन पर २ विकेट खो दिए थे। शमी और उमेश यादव ने १-१ विकेट लिया।