रोहतांग में मौसम का दूसरा हिमपात

घाटी में ठण्ड बड़ी, भूस्खलन से चंडीगढ़-मनाली एनएच बंद

0
1052

जबरदस्त बारिश के बाद भुमक के पास भूस्खलन होने के बाद चंडीगढ़-मनाली हाईवे बंद हो गया है। वहां सड़क के दोनों और वाहनों की लंबी कतार लग गई है। उधर रोहतांग दर्रे में मौसम का दूसरा हिमपात हुआ है।

यहाँ पहुँची रिपोर्ट्स के मुताबिक चंडीगढ़-मनाली नैशनल हाईवे पर सड़क के दोनों तरफ तीन  किलोमीटर का जाम लग गया है। भारी बारिश के बाद फ़िलहाल सड़क बंद है। भूस्खलन के बाद पहले तो वाहन चालक अपने आप ही छोटे पथरों को हटाने में जुट गए ताकि छोटी गाड़ियां निकल सकें। फिर लोगों ने पीडब्ल्यूडी को सूचित किया। बिलासपुर में सुबह से लगातार बारिश हो रही है, जिसके चलते वाहन चालकों को लाइटों का सहारा लेना पड़ रहा है क्योंकि धुंध के कारण अँधेरे जैसी हालत है। स्वारघाट के एसडीओ दीपक सरेली ने बताया कि मौके पर कर्मचारी और मशीनें भेजी गयी हैं। ”जल्द ही सड़क को खोल दिया जाएगा।”

उधर कबाइली जिले लाहुल स्पीति को कुल्लू से जोड़ने वाले रोहतांग दर्रा में ताजा बर्फबारी हुई है।  यह इस मौसम का दूसरा हिमपात है। वहां मौसम शुक्रवार से ही खराब हो गया था, लेकिन शनिवार को दोपहर बाद से रोहतांग दर्रा और इसके साथ लगती पहाड़ियों में बर्फबारी शुरू हुई।

सूचना के मुताबिक अब तक रोहतांग दर्रा में पांच इंच बर्फ पद चुकी है। वैसे रोहतांग दर्रा से अभी वाहनों की आवाजाही जारी है, लेकिन सड़क पर बर्फ होने से फिसलन का खतरा बढ़ गया है। इस दौरान पर्यटकों ने भी रोहतांग के आसपास बर्फबारी का आनंद लिया। लेकिन सुरक्षा की दृष्टि से रोहतांग दर्रा को पर्यटकों के लिए बंद कर दिया गया है। मनाली के गुलाबा चौकी से आगे पर्यटकों को जाने की अनुमति नहीं दी जा रही है। एसडीएम मनाली रमन घरसंगी का कहना है कि बर्फबारी शुरू होने और मौसम विभाग के अलर्ट के बाद प्रशासन ने रोहतांग की तरफ पर्यटकों का जाना बंद कर दिया है। उन्होंने बताया कि रोहतांग दर्रा सहित आसपास की तमाम पहाड़ियों में बर्फबारी का दौर शुरू हो गया है। काजा मार्ग भी यातायात के लिए बंद हो गया है।