रैली में भूल गए शहीद को

कुपवाड़ा के शहीद को लेने नहीं आया एनडीए का एक भी नेता

0
834
शहीदों की नेता हकीकत में कितनी चिंता करते हैं, यह रविवार को पटना एयरपोर्ट पर दिखा। पटना में ही रविवार को पीएम मोदी की भी रैली थी। कुपवाड़ा में आतंकियों के हाथों शहीद हुए बिहार के शहीद पिंटू सिंह की पार्थिव देह पटना एयरपोर्ट पहुँची लेकिन एनडीए के दलों भाजपा, जदयू और लोजपा में से एक का भी कोइ नेता शहीद को रिसीव करने और श्रद्धांजलि देने नहीं पहुंचा।
एक ही नेता एयरपोर्ट पर शहीद के परिजनों के साथ दिखे और वे थे बिहार कांग्रेस अध्यक्ष मदन मोहन झा। दिलचस्प यह भी है कि पीएम मोदी की रैली में शहीदों की खूब चर्चा एनडीए के सभी नेताओं ने की लेकिन शहीद को एयरपोर्ट पर लेने आना किसी ने ज़रूरी नहीं समझा। सभी ने रैली को तरजीह दी।
भाजपा या जदयू के किसी नेता के एयरपोर्ट पर अपने लाडले को श्रद्धांजलि देने के लिए नहीं आने से शहीद के परिजन भी दुखी दिखे। हाँ, बिहार कांग्रेस अध्यक्ष झा ने ज़रूर इस कमी को अपनी मौजूदगी से कम करने की ज़रूर कोशिश की जिन्होंने कहा कि वे अपनी पार्टी कांग्रेस की तरफ से शहीद को श्रद्धांजलि देने यहाँ आये हैं।
उधर एनडीटीवी की एक रिपोर्ट में भी इस बात की पुष्टि हुई है। इस रिपोर्ट के मुताबिक पटना में एनडीए ने एक मेगा संकल्प रैली कर रही थी। हर तरफ भाजपा जवानों की शहादत को लेकर बयान दे रही है लेकिन आज जब कुपवाड़ा में आतंकियों से मुठभेड़ में बिहार के शहीद पिंटू सिंह का पार्थिव शरीर पटना एयरपोर्ट पहुंचा तो श्रद्धांजलि देने के लिए एनडीए का कोई भी नेता वहां मौजूद नहीं था।
शहीद पिंटू सिंह बिहार के बेगुसराय के रहने वाले थे। उनके पार्थिव शरीर को पटना से हेलीकॉप्टर के माध्यम से बेगुसराय भेजा गया। नेताओं में वहां सिर्फ़ बिहार कांग्रेस के अध्यक्ष मदन मोहन झा मौजूद थे। बता दें कि कुपवाड़ा में पिछले कई घंटे से  मुठभेड़ चल रही है। इस मुठभेड़ में दो सीआरपीएफ के जवान और दो जम्मू कश्मीर पुलिस के जवान शहीद हो गए। इनमें ही एक शहीद हैं पिंटू सिंह।