रेपो रेट में कोइ कटौती नहीं

आरबीआई ने  जीडीपी ग्रोथ दर अनुमान घटाकर ५ फीसदी किया

0
820

रिज़र्व बैंक आफ इंडिया (आरबीआई) ने इस बार रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया है। केंद्रीय बैंक ने अलवत्ता चालू माली साल के लिए जीडीपी ग्रोथ अनुमान घटाकर ५ फीसदी कर दिया है जबकि पिछला अनुमान ६.१ फीसदी था।

आरबीआई की आज की घोषणा से लोन सस्ते होने की उम्मीद को झटका लगा है।

 मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) के सभी छह सदस्यों ने ब्याज दरें स्थिर रखने के पक्ष में वोट दिया है। आर्थिक मंदी और इसे लेकर मोदी सरकार पर कांग्रेस सहित विपक्ष के हमलों के बीच केंद्रीय बैंक ने चालू माली साल के लिए जीडीपी ग्रोथ दर का अनुमान भी घटाकर ५ फीसदी कर दिया है। पिछला अनुमान ६.१ फीसदी था।

मौद्रिक नीति समीक्षा की तीन दिन चली बैठक के बाद गुरुवार को आरबीआई ने इन फैसलों की जानकारी दी। आरबीआई ने दूसरी छमाही (अक्टूबर-मार्च) में रिटेल महंगाई दर का अनुमान बढ़ाकर ४.७-५.१ फीसदी किया है। पिछली बार ३.५ फीसदी  से ३.७ फीसदी का अनुमान जताया गया था। जुलाई-सितंबर तिमाही में जीडीपी ग्रोथ सिर्फ ४.४ फीसदी रह गई और पिछले छह साल में यह सबसे कम है।

गौरतलब है कि पिछली लगातार पांच बैठकों में आरबीआई ने रेपो रेट हर बार घटाया था और कुल १.३५ फीसदी की कटौती की थी। इस बार कटौती की उम्मीद जताई जा रही थी लेकिन ऐसा हुआ नहीं है। हालांकि, आरबीआई की मॉनेटरी पॉलिसी कमेटी (एमपीसी) की अगली बैठक ४ से ६ फरवरी के बीच होगी। संभावना है कि आरबीआई उसमें रेपो रेट में कटौती कर सकता है।