रूस ने यूक्रेन के दो विद्रोही क्षेत्रों को दी स्वतंत्र मान्यता, अमेरिका ने लगाई पाबंदियां

बढ़ते तनाव के बीच एक बड़े घटनाक्रम में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन के शासन वाले रूस समर्थित दो अलगाववादी क्षेत्रों को स्वतंत्र घोषित करने को मान्यता दे दी है। पुतिन के इस फैसले के बाद यूक्रेन सरकार के खिलाफ  विद्रोहियों को हथियार भेजने का रास्ता साफ़ हो जाएगा। अभी तक के घटनाक्रम से जाहिर हुआ है कि व्लादिमीर पुतिन की रणनीति अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन पर भारी पड़ी है।

पूर्वी यूक्रेन में पिछले लम्बे समय से रूस समर्थित अलगाववादी यूक्रेन सरकार के खिलाफ विद्रोही गतिविधियां चला रहे हैं। अब इन क्षेत्रों की स्वतंत्रता को रूस के मान्यता देने से उस क्षेत्र में तनाव चरम पर पहुँच गया है। हालांकि, अमेरिका ने रूस के इस फैसले की निंदा करते हुए अलगाववादी राज्यों को मान्यता देने से साफ़ मना कर दिया है।

रूस लगातार यूक्रेन सरकार पर दबाव बनाए हुए है। यूक्रेन के राष्ट्रपति वोल्दिमिर जेलेंस्की की रूस सरकार से बातचीत की कोशिश पर रूस ने कोई ध्यान नहीं दिया है। बीच में यह रिपोर्ट्स भी आई हैं कि जेलेंस्की जबरदस्त दबाव में हैं। यह भी रिपोर्ट्स हैं कि वे देश छोड़ सकते हैं। उधर रूस के क़दमों से बोखलाए और नाराज अमेरिका ने दो अलग-अलग क्षेत्रों में नए निवेश, व्यापार, और अमेरिकी लोगों के निवेश पर सख्त प्रतिबंध लगा दिया है।

हालांकि, वे बार-बार दोहरा रहे हैं कि उनका देश किसी से डरने वाला नहीं है। साथ ही पश्चिमी देशों से मदद मांगने का उनका क्रम जारी है। यूएन प्रमुख एंटोनियो गुटेरेस ने मंगलवार को मॉस्को के फैसले को यूक्रेन की क्षेत्रीय अखंडता और संप्रभुता का उल्लंघन बताया।