राहुल गांधी का आरोप, 70 साल में बनी देश की पूंजी बेच रहे मोदी ; एनएमपी से बेरोजगारी पैदा होगी  

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार शाम मोदी सरकार पर अब तक के सबसे सख्त हमले में आरोप लगाया है पीएम देश के संसाधनों को बेच रहे हैं। एक दिन पहले ही वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मोदी सरकार की राष्ट्रीय मौद्रीकरण योजना (एनएमपी) नीति की घोषणा की थी। अब राहुल गांधी ने इसका सख्त विरोध करते हुए देश के युवाओं को चेताया है कि इससे उनके बेरोजगार होने का रास्ता खुलेगा।

एक प्रेस कांफ्रेंस को सम्बोधित करते हुए कांग्रेस नेता ने कहा कि इस योजना के जरिए मोदी सरकार देश के सरकारी संसाधानों को बेचने की तैयारी कर चुकी है। उन्होंने कहा कि भाजपा कहती रही है कि पिछले 70 साल में देश में कुछ नहीं हुआ लेकिन अब मोदी सरकार 70 साल में देश में जो पूंजी बनी, मोदी सरकार उसे बेच रही है।

गांधी ने कहा – ‘मोदी सरकार ने 1.6 लाख करोड़ का रोडवेज बेच दिया। देश की रीढ़ कही जाने वाली रेलवे को 1.5 लाख करोड़ में बेच दिया। गेल की पाइप लाइन, पेट्रोलियम की पाइपलाइन, बीएसएनल और एमटीएनल को भी केंद्र ने बेच दिया।  वेयरहाउसिंग को भी केंद्र सरकार बेच रही है।’

राहुल गांधी ने कहा – ‘रेलवे को निजी हाथों में बेचा जा रहा है। पीएम सबकुछ बेच रहे हैं। भाजपा का नारा था कि 70 साल में कुछ नहीं हुआ। कल वित्त मंत्री ने देश में जो भी 70 वर्षों में बना, उसे बेच दिया। देश के युवाओं से केंद्र ने रोजगार छीना, कोरोना में मदद नहीं की, किसानों के लिए तीन कृषक कानून बनाए जिससे किसानों का भविष्य खतरे में है।’

कांग्रेस नेता ने कहा कि रेलवे देश की रीढ़ है। गरीब आदमी एक शहर से दूसरे शहर रेलवे के बिना सफर नहीं कर सकता है। करीब 1.50 लाख करोड़ रुपये रेलवे, 400 स्टेशन, 150 ट्रेनें और रेलवे ट्रैक सरकार बेच रही है।’ रेलवे कर्मचारियों को अगाह करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि अगर ये रेलवे से छीनकर प्राइवेट कंपनी को दिया जाएगा तो आपका रोजगार भी खतरे में पड़ जाएगा।