राफेल पर जेपीसी नहीं बनेगी : जेटली

कहा, राफेल पर राहुल झूठ बोल रहे

0
690
लोकसभा में राफेल पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के आक्रमण के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली के सरकार का बचाव किया और कांग्रेस और गांधी परिवार पर आरोप लगाए।
उन्होंने आखिर में राफेल पर जेपीसी बनाने से साफ़ इंकार और कहा कि इसकी कोइ ज़रुरत नहीं क्योंकि सुप्रीम कोर्ट इस मामले में सब कुछ साफ़ कर चुका है। जेटली ने कहा कि कांग्रेस के राज में बोफर्स को लेकर सदस्य  शंकरानंद के नेतृत्व में जेपीसी बनी थी उसमें क्या हुआ। जेटली ने कहा कि जेपीसी इन्वेस्टिगेशन नहीं कर सकती लिहाजा जेपीसी गठित नहीं की जा रही। 
जेटली ने राहुल पर हमला करते हुए कहा कि कहा गया है कि कोइ तीन बार झूठ बोले तो समझो वो चोर है। जेटली ने बोफोर्स, नेशनल हेराल्ड और अगस्ता मामले का उदहारण दिया और कहा कि इनका आरोप गांधी परिवार पर है। जेटली ने (राहुल का नाम लिए बिना) कहा कि बचपन में वह क्या क्यू (क्वात्रोकी) की गोद में खेले? बोफोर्स की डायरी में लिखा था ‘क्यू’ को बचाओ।  
जेटली ने कहा कि राहुल को सच पसंद नहीं है। इस परिवार को सिर्फ पैसों की समझ है देश की सुरक्षा की नहीं। 
जेटली ने कहा कि राफेल की कीमत केजी का बच्चा भी समझ सकता है। राहुल को लड़ाकू विमान की समझ ही नहीं है। कुछ परिवारों को गणित समझ आता है देश की सुरक्षा नहीं। राहुल के राफेल पर दावों का वित्त मंत्री ने जवाब देते हुए कहा कि राहुल लगातार झूठ बोल रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस मामले में जो कुछ भी कहा गया, उसका एक-एक शब्द झूठ है।
इससे पहले राहुल ने कहा कि समोदी और सरकार सुरक्षा की बात करते हैं तो उन्होंने पिछले लगभग पांच साल में एक भी राफेल क्यों भारत नहीं लाया। राहुल ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट को लेकर सरकार जो दावा कर रही वह वैसा नहीं है। गांधी ने कहा कि केंद्र सरकार ने १२६ की बजाए ३६ एयरक्राफ्ट की डील क्यों की?क्या सेना ने इसकी मांग सरकार से की थी? राहुल ने पूछा ये विमान अब तक आए क्यों नहीं? राफेल डील तीन खंबों पर है- पैसा, संरक्षण और कीमत। किसने वायु सेना की जरूरत में बदलाव किया। कांग्रेस अध्यक्ष ने राफेल मामले में जेपीसी की मांग की। उन्होंने कहा कि इससे दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा।
लोकसभा में राहुल गांधी के बयान के दौरान एआईएडीएमके के सांसद संसद में हंगामा करते रहे। इसपर राहुल गांधी ने कहा कि एआईएडीएमके पीएम मोदी को बचा रही है। उन्होंने कहा तमिलनाडु की जनता को देखना चाहिए कि एआईएडीएमके भाजपा के साथ मिलकर क्या कर रही है।