राफेल पर खुद की जांच का आदेश दें मोदी : राहुल

कहा, मोदी ही हैं पाकिस्तान के असली पोस्टर बॉय

0
382
लगता है चुनाव में राफेल का मुद्दा मोदी सरकार का पीछा नहीं छोड़ेगा। लगातार राफेल पर नए खुलासों से लोगों के बीच इस खरीद को लेकर आशंका बढ़ती जा रही है। और अब सरकार के अटार्नी जनरल के सर्वोच्च न्यायालय में ब्यान कि रक्षा मंत्रालय से राफेल से जुडी फाइलें चोरी हो गयी हैं, लोगों के बीच सरकार के राफेल की साफ़-सुथरी खरीद के दावों पर भ्रम बन गया है। इन सब के बीच  कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरूवार को फिर सीधे पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा है कि अगर वे दोषी नहीं हैं तो खुद के खिलाफ जांच की इजाजत क्यों नहीं देते?
राहुल ने राफेल पर अंग्रेजी अखबार ”द हिन्दू” में हुए नए खुलासे और सर्वोच्च अदालत में अटार्नी जनरल के ब्यान को आधार बनाते हुए कहा – ”पीएमओ समानांतर बातचीत क्यों कर रहे थे। उसका कोई कारण होगा। वरना नेगोशिएशन टीम तो अपना काम कर ही रही थी। अगर सरकार कह रही है कि राफेल सौदे के दस्तावेज चोरी होने से ऑफिशियल सीक्रेट्स एक्ट का उल्लंघन हुआ है, तो उस पर एफआईआर दर्ज कराएं। पीएमओ का मतलब प्रधानमंत्री ऑफिस नहीं, सीधे प्रधानमंत्री हैं।’’
कांग्रेस अध्यक्ष ने राफेल डील को लेकर मोदी और कारोबारी अनिल अंबानी पर सीधा निशाना साधा। उन्होंने कहा – ”राफेल इसलिए समय पर नहीं आ पाया क्योंकि उसका पैसा अनिल अंबानी के पास पहुंच गया। फाइल में लिखा है पीएमओ ने सारी सौदेबाजी की। मोदी राफेल डील पर दैसो से समानांतर बातचीत कर रहे थे। अगर वे दोषी नहीं हैं तो खुद के खिलाफ जांच की इजाजत क्यों नहीं देते? इस पर जेपीसी को क्यों नकारा जा रहा है?”
प्रेस कांफ्रेंस में राहुल ने कहा कि प्रधानमंत्री ने रात में सीबीआई प्रमुख को हटाया। ”सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर उन्हें फिर इस पद पर लाया गया, लेकिन फिर हटा दिया गया। सबकी जांच होती है तो प्रधानमंत्री की भी होनी चाहिए। पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने एक टेप में साफ कहा है कि (राफेल सौदे की) सारी फाइलें उनके पास हैं।
पहले आपने कहा कि राफेल में कुछ नहीं है। बाद में हमने बताया कि कुछ गड़बड़ हुई है। इसके बाद हिंदू अखबार ने नाम के साथ लिखा कि राफेल में गड़बड़ हुई।
हमने जब जेपीसी की मांग की तो सरकार उसे नहीं मानी। प्रधानमंत्री खुद क्यों नहीं कहते कि मैं चौकीदार हूं, मैंने चोरी नहीं की है। उन्हें खुद इस मामले की जांच करानी चाहिए।”
राहुल ने कहा कि कल ही उन्होंने अखबार में पढ़ा कि जो सीआरपीएफ के जवान शहीद हुए उनके परिवारों ने (एयर स्ट्राइक के) सबूत देने की मांग उठाई है। उन्होंने कहा है कि हमें चोट लगी है तो हमें दिखाइये कि क्या हुआ। गांधी ने कहा – ”‘प्रधानमंत्री पठानकोट में आईएसआई को बुलाते हैं। वे पाकिस्तान जाकर नवाज शरीफ को गले लगाते हैं और फिर हमें पाक का पोस्टर बॉय कहा जाता है। पाकिस्तान के असली पोस्टर बॉय तो खुद पीएम मोदी हैं।”