राजीव वाले प्रस्ताव पर आप में घमासान

विरोध' करने वाली अलका लाम्बा से माँगा इस्तीफा !

0
568
दिवंगत प्रधानमंत्री राजीव गांधी को मरणोपरांत १९९१ में दिया ”भारत रत्न” अवार्ड वापस लेने का मामला आम आदमी पार्टी और केजरीवाल सरकार के लिए संकट का सबब बन गया है। दिल्ली विधानसभा में शुक्रवार १९८४ के सिख विरोधी दंगों से जुड़ा एक प्रस्ताव पास किया गया, जिसमें केंद्र सरकार से  मांग की गई कि पूर्व पीएम राजीव गांधी को दिया ”भारत रत्न” सम्मान वापस लिया जाए। अब आम आदमी पार्टी इससे हाथ खींचती दिख रही है।
पार्टी की वरिष्ठ नेता विधायक अलका लांबा के ट्वीट के बाद मामला उलझा। अलका  ने कहा – ”राजीवजी ने देश के लिए क़ुर्बानी दी, इस बात को नहीं भुलाया जा सकता। किसी व्यक्ति को किसी एक कार्य के लिये भारत रत्न नहीं मिलता। देश के लिए जीवन पर्यन्त उल्लेखनीय कार्यों के लिए यह सम्मान दिया जाता है। इसलिए किसी एक वजह से भारत रत्न वापस लेने की बात का समर्थन करना उचित नहीं है। अलका का ट्ववीट में कहना था – ”दिल्ली विधानसभा में में प्रस्ताव लाया गया कि पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधीजी को दिया गया भारत रत्न वापस लिया जाना चाहिये। मुझे मेरे भाषण में इसका समर्थन करने को कहा गया, जो मुझे मंजूर नहीं था। मैंने सदन से वॉक आउट किया। अब इसकी जो सज़ा मिलेगी मैं उसके लिये तैयार हूं।” खबर है कि आप ने अलका से सभी पदों से इस्तीफा मांग लिया है। प्रवक्ता सोमनाथ को भी इस्तीफा देने को कहा गया है।
राजीव वाले प्रस्ताव के पास होने और इसपर जो प्रतिक्रियाएं आईं उससे आप में बेचैनी फ़ैली। पार्टी को लगा इससे बड़ा राजनीतिक नुक्सान हो सकता है लिहाजा प्रस्ताव पास होने के सच से पल्ला झाड़ने की कोशिश शुरू हो गयी। आप ने कहा कि प्रस्ताव पास करने पर तो  अलका लाम्बा अड़ी थीं जबकि अलका ट्वीट में साफ़ कर चुकी हैं कि वे इसके विरोध में थी और वाकआउट कर गयी थीं।
यह प्रस्ताव पार्टी विधायक जरनैल सिंह ने रखा था। इसमें कहा गया था – ”१९८४ के  कत्लेआम का औचित्य साबित करने वाले तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी जिन को भारत रत्न के सम्मान से नवाजा गया, केंद्र सरकार को उन का यह अवॉर्ड वापस लेना चाहिए।”
सोशल मीडिया पर जारी एक वीडियो को सच माना जाये तो यह प्रस्ताव बाकायदा पास हो गया है। इस प्रस्ताव का सदन में मौजूद सदस्यों ने खड़े होकर समर्थन किया। इसमें स्पीकर रामनिवास गोयल शामिल हैं।
आप भाजपा की ‘बी” टीम : माकन
दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन ने ट्वीट कर कहा – राजीव गांधी ने अपना जीवन देश के लिए त्याग दिया। आप का असली रंग खुलकर सामने आ गया। मेरा हमेशा मानना रहा है कि आप भाजपा की बी टीम है।  आप ने गोवा, पंजाब, मध्यप्रदेश, राजस्थान, गुजरात, छत्तीसगढ़ में उम्मीदवार केवल कांग्रेस के वोट काटकर भाजपा की मदद के लिए उतारे।”
प्रस्ताव तो पास हो गया : भाजपा
भाजपा के वरिष्ठ नेता विजेंद्र गुप्ता ने दावा किया – ”राजीव गांधी से भारत रत्न वापस लिए जाने का प्रस्ताव विधानसभा में पास हो चुका है। यह अब  सदन की प्रोसिडिंग्स का हिस्सा बन चुका है। आप क्योंकि कांग्रेस से समझौता करना चाहती है, वो अब प्रस्ताव को लेकर सफाई दे रही है।
राजीव वाला हिस्सा हाथ से लिखा था : भारद्वाज
आप के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज का कहना है कि विधानसभा में शुक्रवार को जो हुआ वह आप का ऑफिशियल स्टैंड नहीं था। पार्टी के मुताबिक राजीव वाला हिंसा प्रस्ताव में  हाथ से लिखा गया। यह विधायकों की गलती से हुई चूक थी। इसे वास्तव में प्रस्ताव पास होना नहीं कहा जा सकता।