राजस्थान की बागडोर गहलोत के हाथ

0
360

कांग्रेस ने सत्ता में आने के बाद राजस्थान की बागडोर अनुभवी अशोक गहलोत के हाथ सौंप दी है। सचिन पायलट को उपमुख्यमंत्री बनाया गया है। इस प्रकार पार्टी ने अनुभव और युवा शक्ति का एक मिश्रण किया है। गहलोत राजस्थान के 15 वें मुख्यमंत्री बने हैं।

अशोक गहलोत इससे पहले 1998 से 2003 और 2008से 2013 तक राजस्थान के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। इसके अलावा वे केंद्र सरकार में भी मंत्री रहेे। तीन मई 1951को जन्में अशोक गहलोत ने विज्ञान में स्नातक की उपाधि ली और अर्थशास्त्र में एमए किया उनके पास कानून की डिग्री भी है।

उन्हें इंदिरा गांधी ने राजस्थान में एनएसयूआई  का पहला अध्यक्ष नियुक्त किया था। वे सितंबर 1982 से फरवरी 1984 तक केंद्र सरकार में पर्यटन व ऐविएशन मंत्री रहे। उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने टोंक सिंह से विधानसभा में प्रवेश किया है। 41 वर्ष के सचिन के नाम सबसे कम उम्र का सांसद बनने का रिकार्ड भी है। वे जब सांसद बने थे तो उनकी आयु महज 32 साल थी। सात सितंबर 1977 को जन्में सचिन दिल्ली के सेंट स्टीफेंस कालेज में बीए की पढ़ाई की। 2002 में उन्होंने अमेरिका के एक नामवर कालेज से एमबीए की डिग्री ली। सचिन अमेरिका के जिस कालेज में पढ़े हैं उसी में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी पढ़ाई की है।