मोदी की रैली के लिए सरकारी खर्च : अग्निहोत्री

बोले, योजना लाभार्थियों पर रैली में आने के लिए सरकार का दवाब

0
1153
हिमाचल में कांग्रेस २०१९ के लोकसभा चुनाव के लिए कमर कसने लगी है। पार्टी की हिमाचल मामलों की प्रभारी सभी चार लोकसभा क्षेत्रों की बैठक कर दो दिन पहले वापस दिल्ली लौट गईं। इन बैठकों में लोकसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों के चयन की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है। साथ ही प्रदेश कांग्रेस ने भाजपा की जयराम सरकार पर भी हमले तेज कर दिए हैं।
हिमाचल विधानसभा में विपक्ष के नेता मुकेश अग्निहोत्री से ”तहलका” ने बुधवार को बातचीत की। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार के एक साल पूरे होने पर पीएम नरेंद्र मोदी की रैली में भीड़ जुटाने के लिए सारी सरकारी मशीनरी झौंक दी गयी है। अग्निहोत्री ने कहा – ”विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों पर रैली में आने के लिए दवाब बना रही है। रैली में लाभार्थियों को लाने के कार्य के लिए मुख्य सचिव से लेकर एसडीएम स्तर के अधिकारी लगे हुए हैं।”
मुकेश ने आरोप लगाया कि लोकसभा चुनाव का प्रचार करने के लिए भाजपा एक राजनैतिक रैली कर रही है लेकिन इसमें सरकारी खजाने से करोड़ों रुपए खर्च किए जा रहे हैं। ”सरकार के मंत्रियों ने सभी विभागों के अधिकारियों को आदेश दिए हैं कि वह उनकी योजनाओं के लाभार्थियों को रैली में लेकर आएं।”
उन्होंने कहा कि सरकारी अधिकारी केंद्र और राज्य सरकार की आवास योजना, पेंशन योजना, स्वरोजगार योजना, उज्जवला योजना आदि के लाभार्थियों की सूची बनाने में लगे हैं और अधिकारी इन सूचियों के आधार पर लाभार्थियों पर रैली में आने का दवाब बना रहे। ”अधिकारी यह भी कह रहे हैं कि जो लाभार्थी रैली में नहीं आएगा उसे उस योजना का आगे लाभ नहीं मिलेगा। जिससे साबित होता है कि सरकार की रैली में जनता आने वाली नहीं है, इस कारण सरकार लाभार्थियों के बहाने भीड़ दिखाना चाहती है।”
हिमाचल में विपक्ष के नेता ने कहा कि हाल ही में पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में मिली हार से भाजपा नेतृत्व परेशान है। अग्निहोत्री ने कहा कि राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस ने जनता के सहयोग से भाजपा को जो सबक सिखाया है उससे कोइ सीख लेने के बजाये अभी भी भाजपा नकारात्मकता की राजनीति कर रही है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस २०१९ के लोकसभा चुनाव में बड़ी जीत हासिल करेगी क्योंकि जनता मोदी सरकार के झूठे वादों से ऊब चुकी है।
अग्निहोत्री ने कहा कि कांग्रेस प्रदेश की चारों सीटें जीतेगी। कहा कि जयराम सरकार सभी मोर्चों पर विफल रही है जिससे एक साल में जनता का उससे  मोह भंग हो गया है। ”भाजपा के कार्यकर्ता भी हतोत्साहित हैं, क्योंकि सरकार अपनों की ही अपेक्षाओं पर खरी नहीं उतर सकी है।” वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने कहा कि प्रधानमंत्री के सामने सरकार की नाकामियों की पोल न खुल जाए इसलिए मुख्यमंत्री और मंत्री अपनी कुर्सी बचाने के लिए गलत तरीके से भीड़ जुटाने में लगे हैं।
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि मुख्यमंत्री और मंत्री जानते हैं कि सरकार का जश्न मनाने जनता आने वाली नहीं है, जिससे वह लाभार्थियों को धमकाकर रैली में लाने का प्रयास कर रहे हैं। मुकेश ने कहा कि सरकार के पास एक साल की उपलब्धियां गिनाने के लिए कुछ नहीं है। ”मुख्यमंत्री ने जो योजनाएं अपना ड्रीम प्रोजेक्ट बताकर शुरु की, वह भी जनता के बीच नाकाम साबित हुईं हैं। जिससे जनता के बीच एक साल में सरकार की उपलब्धियां नहीं बल्कि घोटालों की चर्चा हो रही है। एक साल की सरकार में दर्जनों घोटाले समाने आए हैं जिनका सरकार के पास कोई जवाब नहीं है।”
अग्निहोत्री ने बाबा रामदेव को ज़मीन कौड़ियों के भाव देने का भी आरोप लगाया और कहा कि करोडा़ें की जमीन देने के मामले में कोई जवाब नहीं है। ”बस खरीद घाेटाला, वर्दी खरीद घोटाला सामने आए हैं जिस पर न तो मुख्यमंत्री और न ही मंत्री जवाब दे पाए हैं।” मुकेश ने कहा कि मुख्यमंत्री ने युवाओं को रोजगार देने के लिए मुख्यमंत्री स्वाबलंबन योजना शुरु की लेकिन ६ माह में १०० लोगों को भी फायदा नहीं हुआ जिससे मुख्यमंत्री की यह योजना भी फ्लॉप साबित हुई है।
कांग्रेस नेता ने आरोप लगाते हुए कहा कि पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए मुख्यमंत्री ने हैलीटैक्सी सेवा शुरु की। ”शिमला से चंडीगढ़ के लिए शुरु की गई पहली हेलीटैक्सी सेवा भी महीनों से बंद पड़ी हैं। जिससे अब प्रदेश के अन्य पर्यटन स्थलों के लिए हेलीटैक्सी सेवा शुरु होने पर सवाल खड़े हैं।”