महाराष्ट्र के जिला परिषद चुनाव में बीजेपी को तगड़ा झटका

6 जिला परिषद चुनाव में पिछड़ी बीजेपी ।गडकरी और फडणवीस के गढ़ में बीजेपी को शिकस्त

0
519

महाराष्ट्र राज्य के बदलते हुए राजनीतिक समीकरण का सीधा सीधा प्रभाव स्थानीय चुनाव के नतीजों में दिखाई दिया। राज्य में जिला परिषद के चुनावों में बीजेपी को खासा नुकसान हुआ है। नागपुर, धुले, पालघर, नंदुरबार,अकोला और वाशिम में हुए जिला परिषद चुनाव के नतीजों में 6 में से 5 जिलों में बीजेपी झटका लगा है।

सबसे बड़ा झटका बीजेपी के गढ़ समझे जाने वाले पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, केंद्रीय मंत्री व बीजेपी के वरिष्ठ नेता नितिन गडकरी और पूर्व मंत्री चंद्रकांत बवनकुले के गृह नगर नागपुर जिला परिषद के हाथ से निकल जाने पर लगा है। नितिन गडकरी के मूल गांव ढापेवाडा से कांग्रेस के उम्मीदवार महेंद्र डोंगरे चुनाव जीते हैं। वहीं बावनकुले को ले गांव कोराड़ी से भी कांग्रेस के उम्मीदवार नाना कंभाले ने जीत हासिल की है। नागपुर जिला परिषद की कुल 58 सीटों में से कांग्रेस ने अकेले 30 सीट जीती हैं बीजेपी को 15 पर संतोष करना पड़ा है। इसके अलावा पालघर जहां पर बीजेपी अव्वल थी अब नंबर तीन पर चली गई है वहां पर अब शिवसेना 18 सीटें जीतकर नंबर वन पर है।हांलाकि धुले जिला परिषद में बीजेपी के हाथ बढिया सफलता लगी है। बीजेपी को यहां पर पहली बार स्पष्ट बहुमत मिला है। उत्तर महाराष्ट्र के इस जिला परिषद में 54 सीटों में से बीजेपी को 39 सीटों पर जीत हासिल हुई है । हालांकि इसका श्रेय यहां केपूर्व मंत्री जयकुमार रावल को जी चाहता है। नंदुरबार में भी बीजेपी खुश हो सकती है।इस जिला परिषद में अब तक बीजेपी का केवल एक सदस्य था इस दफा बीजेपी को 26 जगहों पर सफलता मिली है। 6 जिला परिषदों में 332 सीटों के लिए चुनाव में हुए जिस में से बीजेपी को 103, कांग्रेस को 74, एनसीपी को 43,शिवसेना को 48 और अन्य की झोली में 61 सीटें आई हैं।

नागपुर जिला परिषद

कुल सीटें – 58 ,काँग्रेस – 30, एनसीपी – 10, बीजेपी- 15, शिवसेना – 1, निर्दलीय – 2

पालघर जिला परिषद

कुल सीटें– 57

शिवसेना – 18, माकप – 6, बीजेपी – 12, एनसीपी – 14, बविआ – 4, निर्दलीय – 3, काँग्रेस -1,

वाशीम जिला परिषद
कुल सीटें – 52
एनसीपी – 12, काँग्रेस – 9, शिवसेना – 6, वंचित बहुजन आघाडी – 8, बीजेपी – 7, जनविकास आघाडी – 7, निर्दलीय – 2, स्वाभिमानी शेतकरी संघटना – 1

जिला धुले में कांग्रेस को 7, एनसीपी को 3, शिवसेना को 4 ,बीजेपी को 39 व निर्दलीय 3 और नंदुरबार में कांग्रेस को 20, एनसीपी को 3, शिवसेना को 7 व बीजेपी को 26 सीटें मिली है। आकोला में कांग्रेस को 3, एनसीपी को 4, शिवसेना को 13, बीजेपी को 7 और निर्दलीयों को 26 सीटें मिली हैं।