बुन्देलखण्ड में भाजपा से सपा ने छीनीं तीन सीटें

उत्तर प्रदेश की सियासत में उत्तर प्रदेश के हिस्से वाले बुन्देलखण्ड की सियासत का अपना अलग ही मिजाज़ है। इस लिहाज़ से बुन्देलखण्ड की राजनीति को नज़रअंदाज़ नहीं किया जा सकता। बताते चलें कि बुन्देलखण्ड में 19 विधानसभा सीटें हैं। सन् 2017 में वहाँ की सभी 19 सीटों पर भाजपा ने ऐतिहासिक जीत हासिल की थी। लेकिन इस बार 2022 के चुनाव में भाजपा को 19 में से 16 सीटों पर ही जीत मिली है। तीन सीटें इस बार समाजवादी पार्टी (सपा) ने भाजपा से छीन लीं।

दरअसल बुन्देलखण्ड की राजनीति में जातीय और धार्मिक समीकरण के बनने-बिगडऩे में देर नहीं लगती है। ऐसा ही इस बार हुआ है। जो तीन सीटें भाजपा से छिटककर सपा में चली गयीं, उसकी वजह जातीय और धार्मिक समीकरणों का ही मामला है। उत्तर प्रदेश के हिस्से वाले बुन्देलखण्ड में सात ज़िले झाँसी, ललितपुर, जालौन, बाँदा, हमीरपुर, चित्रकूट और महोबा हैं।

झाँसी ज़िले में चार विधानसभा सीटें हैं, जिनमें झाँसी विधानसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी रवि शर्मा, गरौठा विधानसभा सीट से भी भाजपा प्रत्याशी जवाहर सिंह राजपूत, बबीना विधानसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी राजीव सिंह पारीक्षा और मऊरानीपुर सुरक्षित सीट से भाजपा की गठबंधन पार्टी अपना दल की प्रत्याशी डॉ. रश्मि आर्या ने जीत हासिल की है। ललितपुर ज़िले में दो विधान सभा सीटें हैं, जिनमें ललितपुर विधानसभा सीट से भाजपा के प्रत्याशी रामरतन कुशवाहा और महरौनी विधानसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी मनोहर लाल पंथ ने जीत हासिल की है। हमीरपुर ज़िले की दोनों सीटों पर भाजपा का दबदबा क़ायम रहा है। इनमें हमीरपुर विधानसभा सीट से भाजपा के मनोज प्रजापति और राठ विधानसभा सीट से भाजपा की मनीषा अनुरागी ने जीत हासिल की है। महोबा ज़िले में दो विधानसभा सीटें हैं, जिनमें महोबा सीट से भाजपा प्रत्याशी राकेश गोस्वामी और चरखारी विधानसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी बृजभूषण राजपूत ने जीत हासिल की है। जालौन ज़िले में तीन विधानसभा सीटें हैं- उरई, माधौगढ़ और कालपी। इनमें माधौगढ़ और उरई में तो भाजपा के प्रत्याशी मूलचंद्र निरंजन और गौरी शंकर वर्मा ने जीत हासिल की है। जबकि कालपी में सपा के प्रत्याशी विनोद चतुर्वेदी ने जीत हासिल की है। इसी तरह बाँदा में चार विधानसभा सीटें हैं। बाँदा से भाजपा के प्रत्याशी प्रकाश द्विवेदी, नरैनी से भाजपा प्रत्याशी ओममणि वर्मा तिन्दवारी से भाजपा प्रत्याशी रामकेश निषाद ने जीत हासिल की है। वहीं बबेरू विधानसभा सीट से सपा प्रत्याशी विशंभर सिंह यादव ने जीत हासिल की है। चित्रकूट ज़िले में दो सीटें हैं। इनमें चित्रकूट विधानसभा सीट से सपा के प्रत्याशी अनिल प्रधान ने जीत हासिल की है, जबकि मानिकपुर विधानसभा सीट से अविनाश चन्द्र द्विवेदी ने अपना दल-भाजपा गठबंधन से जीत हासिल की है।